अग्रवाल समाज का योगदान अतुलनीय

भोपाल, जनवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अग्रवाल समाज का विकास में अतुलनीय योगदान है। इनकी उद्यमशीलता और बुद्धिमता पूरी दुनिया में ख्यात है। वह समाज का अभिनंदन और वंदन करने के लिये सम्मेलन में आये हैं। श्री चौहान यहाँ  अग्रवाल युवा चेतना सोसायटी भोपाल के युवक-युवती परिचय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

उन्‍होंने कहा कि अभी कुछ वर्ष पहले प्रदेश विकास की दौड़ में अत्यंत पीछे था। विकास की दर बहुत कम थी। उसे बढ़ाने के लिये बुनियादी निवेश पर बल दिया गया। आवश्यकता के अनुरूप प्रदेश के विकास को गति दी गयी। आज प्रदेश की विकास दर 12 और कृषि विकास दर 18 प्रतिशत है।

मुख्यमंत्री ने अग्रवाल समाज की उद्यमशीलता और बढ़ने की कामना करते हुए कहा कि उनके जीवन के विभिन्न मोड़ों पर अग्रवाल समाज का सहयोग और समर्थन उन्हें मिला है। देश की सर्वश्रेष्ठ निवेश योजनाएँ प्रदेश में बनायी गयी हैं। इसी भावना से कृषि को भी फायदा का धंधा बनाने की कोशिश की गयी। क्योंकि फसल अच्छी होगी तो बाजार में बिक्री अच्छी होगी। अच्छी बिक्री से उत्पादन बढ़ेगा। उत्पादन बढ़ने से निवेश आयेगा और निवेश से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। खुदरा में विदेश पूँजी निवेश से रोजगार में कमी होगी। इसीलिये प्रदेश में खुदरा व्यापार में एफडीआई को अनुमति नहीं दी गयी है। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही स्व-रोजगार के लिये ऋण गारंटी और ब्याज सब्सिडी उपलब्ध करवाने की योजना भी लागू की जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं के प्रति दुर्व्यवहार और दुराचार को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। बलात्कारी को मृत्यु दण्ड मिले इसकी अनुशंसा केन्द्र सरकार को भेजी गई है। राज्य में दुराचारियों को शीघ्र दण्डित करने के प्रावधान किये जा रहे हैं। घटना की 15 दिवस में जाँच और 45 से 60 दिवस में सजा के प्रयास किये जा रहे हैं। ऐसा डाटाबेस तैयार किया जा रहा है, जिसमें दुराचारियों के संबंध में जानकारी संकलित रहेगी। उन्हें ड्रायविंग लायसेंस, पासपोर्ट और सरकारी नौकरी आदि कुछ भी नहीं मिलेगा। अपराधी की जिंदगी मौत से भी बदतर हो जायेगी।

भास्कर समूह के चेयरमेन रमेशचंद्र अग्रवाल ने कहा कि जमाना बदल रहा है। जमाने के अनुसार बदलने के लिये स्वयं समाज को ही आगे आना होगा। समाज की पुरातन मान्यताओं और मानसिकताओं को छोड़ना होगा। बेटी सुख-समृद्धि का प्रतीक होती है। परिवार में बहू-बेटी के आगमन से ही खुशियाँ आती हैं। उन्होंने सम्मेलन को दो दिवसीय करने का सुझाव भी दिया।

स्वागत उद्बोधन में श्री कमलकांत ने बताया कि सोसायटी का यह दूसरा परिचय सम्मेलन है। अतिथियों का अंगवस्त्रम भेंट कर स्वागत किया गया। अंत में शॉल-श्रीफल और स्मृति-चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने समाज की ओर से बाल चिकित्सक बॉम्बे चिल्ड्रन हॉस्पिटल के संचालक डॉ. राहुल अग्रवाल को भी सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here