आदर्श आचरण संहिता के प्रकरणों में निष्पक्ष रहें

भोपाल, नवम्बर 2014/ नगरीय निकाय निर्वाचन-2014 में आदर्श आचरण संहिता के प्रकरणों में अधिकारी दृढ़, विनम्र और निष्पक्ष रहें। ऐसे सभी प्रकरण पर बिना किसी भेदभाव के कार्यवाही करें। आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग आर. परशुराम ने यह निर्देश सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्वाचन की तैयारियों की वीडियो-कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा के दौरान दिये।

श्री परशुराम ने कहा कि कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक मिलकर कानून व्यवस्था की सतत समीक्षा करें। क्रिटिकल पोलिंग स्टेशन की पहचान और वल्नरेबल मेपिंग शीघ्र करें। उन्होंने कहा कि अभ्यर्थियों को बिजली बिल और नगरीय निकाय के करों के अदेय प्रमाण-पत्र उपलब्ध करवाने के लिये फेसिलिटेशन डेस्क स्थापित करें। चेक-लिस्ट के अनुसार कार्यवाही करें। ईव्हीएम का रेण्डमाइजेशन समय पर करें।

श्री परशुराम ने कहा कि जिन नगरीय निकाय में निर्वाचन नहीं हो रहा है, वहाँ जन-सुनवाई की जा सकती है। उन्होंने कहा कि शस्त्र पूरे जिले के जमा करवाये जायें।

श्री परशुराम ने बताया कि प्रदेश में हो रहे नगरीय निकाय निर्वाचन में किये जा रहे नवाचारों को देखने के लिये अन्य राज्यों के चुनाव आयोग के अधिकारियों ने इच्छा व्यक्त की है। मतदान के दौरान वे राज्य का भ्रमण कर सकते हैं। 

श्री परशुराम ने कहा कि पेड-न्यूज की निगरानी के लिये जिला एवं राज्य-स्तर पर एमसीएमसी कमेटी गठित की गई हैं। उन्होंने कहा कि कमेटी तत्परता से कार्यवाही करे।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक इंटलीजेंस श्री सर्वजीत सिंह ने कहाकि आपराधिक गतिविधियों में लिप्त व्यक्तियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करें। स्थानीय स्तर पर होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों में पुलिस अधिकारी भी शामिल हों। ईव्हीएम की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जायें। जिलों से फोर्स की जरूरत का एसेसमेंट कर जानकारी शीघ्र भेजें। श्री परशुराम ने कमिश्नर एवं कलेक्टर की शंकाओं का समाधान भी किया। वीडियो-कान्फ्रेंसिंग में कमिश्नर, आई.जी., कलेक्टर, एस.पी. एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here