उच्च शिक्षा के नवाचार जुड़ेंगे यूजीसी कार्यक्रमों में

भोपाल, अक्टूबर 2014/ मध्यप्रदेश सरकार द्वारा उच्च शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे गुणात्मक एवं रोजगारोन्मुखी नवाचारों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) अपने कार्यक्रमों में समाहित करने का प्रयास करेगा। आयोग के सचिव श्री जसपाल सिंह संधु ने यह जानकारी उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता को दी है। श्री संधु ने नवाचारों की सराहना भी की है। श्री गुप्ता ने प्रदेश में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे नवाचारों की जानकारी मानव संसाधन विकास मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी को दी थी।

उच्च शिक्षा मंत्री श्री गुप्ता ने बताया है कि प्रदेश के युवाओं को उच्च शिक्षा की ओर आकर्षित करने तथा उन्हें गुणात्मक एवं रोजगारोन्मुखी शिक्षा से जोड़ने के उद्देश्य से उच्च शिक्षा विभाग द्वारा कई नवाचार किये जा रहे हैं। इनमें ई-गवर्नेंस, ग्लोबल बजट, वर्चुअल कक्षाएँ, ऑनलाइन प्रवेश, विभागीय वेबसाइट पर ऑनलाइन जानकारी, गुणवत्ता आश्वासन समिति एवं प्रकोष्ठ की स्थापना, एम्बेसेडर प्रोफेसर योजना, प्रतिभा बेंक योजना, स्व. श्री लक्ष्मण सिंह गौड़ स्मृति पुरस्कार, ई-न्यूज लेटर का प्रकाशन, भाषा सुधार का अभियान, गाँव की बेटी योजना, प्रतिभा किरण योजना, छात्राओं के लिये आवागमन सुविधा योजना, शोधार्थियों को सहायता, कॉलेज चलें हम अभियान, वाई-फाई केम्पस, नैतिक शिक्षा एवं व्यक्तित्व विकास जैसे नवाचार के सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो रहे हैं। इन नवाचारों से प्रदेश के सकल पंजीयन अनुपात (जीईआर) में वृद्धि हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here