एक लाख शिक्षकों की भर्ती शीघ्र होगी : मुख्यमंत्री

शिवपुरी, नवंबर 2012/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार और शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार देने के लिये एक लाख शिक्षक की भर्ती की प्रक्रिया शीघ्र शुरू की जायेगी। श्री चौहान शिवपुरी जिले के नरवर में अंत्योदय मेले में उपस्थित जन समूह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने 17 हजार 647 लोगों को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 19 करोड़ रुपये से अधिक के लाभपत्र वितरित किये। जिले के प्रभारी मंत्री कन्हैयालाल अग्रवाल उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के युवाओं को रोजगार के ज्यादा से ज्यादा अवसर उपलब्ध करवाने की दिशा में राज्य सरकार ठोस कदम उठा रही है। शासकीय सेवा में भर्ती के लिये अधिकतम आयु सीमा 5 वर्ष बढ़ा दी गई है जिसका लाभ शिक्षित बेरोजगारों को प्राप्त होगा। बेरोजगारों को विभिन्न व्यवसाय में प्रशिक्षित करने के लिये औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के साथ-साथ कौशल उन्नयन केन्द्र भी शुरू किये गये हैं। यहाँ से प्रशिक्षित युवाओं को उद्योगों में आसानी से रोजगार मिल सकेगा। जो बेरोजगार स्वयं का धंधा शुरू करना चाहते हैं उन्हें शासन बैंक गारंटी की सुविधा देगा। उन्होंने कहा कि हाल ही में इन्दौंर में इन्वेस्टर्स समिट के दौरान जो करार किये गये हैं उनसे शिवपुरी जिले में 111 करोड़ की लागत से उद्योग धंधे स्थापित होंगे। उद्योगों में कम से कम 50प्रतिशत स्थानीय नौजवानों को रोजगार प्राप्त होगा। मुरैना से गुना तक एक नया इडस्ट्रीयल कॉरीडोर बनाया जायेगा।

श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार खेती को मुनाफे का व्यवसाय बनाने के लिये दृढ़ता से प्रयास कर रही है। किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऋण तथा धान और गेहूँ की खरीदी पर 100 रुपये प्रति क्विंटल बोनस की सुविधा दी गई है। गरीबों को आवासीय पट्टे उपलब्ध करवाये जायेंगे। साढे चार लाख वार्षिक आय वाले परिवारों के विद्यार्थियों को शिक्षा के लिये जीरो प्रतिशत पर ब्याज दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने नरवर को पर्यटक क्षेत्र के रूप में विकसित करने तथा वहाँ अगले सत्र से महाविद्यालय स्थापित करने की घोषणा की। करेरा में अगले सत्र से विज्ञान संकाय की कक्षाएँ शुरू करने और बैराड़ को तहसील का दर्जा देने का भी ऐलान किया। उन्‍होंने 52 करोड़ 16 लाख से अधिक के निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया। इस अवसर पर जनसम्पर्क विभाग द्वारा लगाई विकास प्रदर्शनी लोगों के आकर्षण का केन्द्र रही। मेला परिसर में निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में लगभग 850 मरीजों का परीक्षण कर दवाएँ वितरित की गईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here