एक लाख 12 हजार स्कूल में प्रतिभा-पर्व 30 को

भोपाल, नवंबर 2012/ प्रदेश के एक लाख 12 हजार से अधिक शासकीय प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय में 30 नवम्बर को प्रतिभा-पर्व होगा। इस दिन इन शालाओं में शैक्षिक गतिविधियों के साथ ही विद्यालय में उपलब्ध व्यवस्थाओं का मूल्यांकन होगा। इस कार्य से जुड़े शिक्षा विभाग के अमले सहित अन्य विभागों के कर्मियों को भी मुस्तैदी से कार्य करने के निर्देश दिये गये हैं।

इस दिन एक साथ सुबह 10:30 से शाम 4:30 बजे तक शालेय व्यवस्था और संचालन के साथ अध्ययनरत बच्चों की शैक्षिक उपलब्धियों का जायजा लिया जायेगा। इस काम में शिक्षक, प्रधानाध्यापक, जन-शिक्षक, बीएसी, वीआरसी, बीईओ, संयुक्त प्राचार्य, डाइट फेकल्टी, डीईओ, संयुक्त आयुक्त आदिवासी विकास, प्राचार्य शिक्षा महाविद्यालय और संयुक्त संचालक लोक शिक्षण को उत्तरदायी बनाया गया है। पहले चरण में 12 हजार अधिकारी और कर्मचारी इस कार्य में लगाए गए हैं।

पर्व के प्रारंभ में शाला प्रबंध समिति अध्यक्ष की उपस्थिति में प्रश्न-पत्रों के लिफाफे खोले जाएँगे और 11 से एक बजे की अवधि में मूल्यांकन कार्य होगा। कक्षा 1 से 4 तक के बच्चों के लिखित और मौखिक मूल्यांकन के लिए एक-एक घंटे और 5 से 8 के बच्चों के लिए 2-2 घंटे का समय तय किया गया है। मूल्यांकन के बाद उसी दिन उत्तर पुस्तिकाओं की जाँच के बाद शाम 4:30 बजे शाला प्रबंध समिति के पदाधिकारियों के समक्ष परिणाम की घोषणा की जाएगी।

मूल्यांकन के आधार पर प्रत्येक कक्षा में प्रथम आए बच्चे का नाम शाला पटल पर अंकित किया जाएगा और 26 जनवरी को उसे सार्वजनिक रूप से सम्मानित किया जाएगा। इसी तरह डी एवं ई-ग्रेड में आए बच्चों की विशेष शिक्षण कक्षाएँ लगाई जाएँगी तथा द्वितीय चरण के मूल्यांकन तक उनके ग्रेड में सुधार लाने के लिए हर-संभव प्रयास किये जाएँगे। समय-समय पर इसकी सतत् मॉनीटरिंग भी की जाएगी। मूल्यांकन एवं सत्यापन कार्य में लापरवाही बरतने और फर्जी जानकारी देने वाले अधिकारी-कर्मचारी के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जाएगी।

शाला से प्राप्त परिणाम की जानकारी निर्धारित माड्यूल में विकासखण्ड स्त्रोत केन्द्र-स्तर से 20 दिसम्बर तक अनिवार्यतः प्रविष्टि की जाएगी। जानकारी का राज्य-स्तर से विश्लेषण कर परिणाम की समीक्षा की जाएगी। समीक्षा के आधार पर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा सुधारात्मक कदम उठाये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here