ऐतिहासिक रही चौथी एमपी-एक्सपोर्टेक

ग्‍वालियर, जनवरी 2013/ लगभग दो दर्जन देशों से आए आयातकों और खरीददारों ने एमपी एक्सपोर्टेक के आखिरी दिन भी प्रदेश के उत्पादों पर खुलकर धन वर्षा की। ग्वालियर मेला परिसर स्थित फेसिलिटेशन सेंटर में हुई इस रिवर्स बायर सेलर मीट में लगभग 629 करोड़ के व्यवसायिक अनुबंध हुए। इसमें ग्वालियर-चंबल अंचल के उत्पादकों के साथ हुए अनुबंध शामिल हैं।

चौथी एमपी-एक्सपोर्टेक का रविवार को समापन हुआ। एमपी- एक्सपोर्टेक में अच्छा व्यवसायिक प्रतिसाद मिलने से प्रदेशभर के विक्रेता गदगद तो हैं ही, साथ ही सुदूर देशों से आए राजनयिक, आयातक और खरीदारों को प्रदेश के उत्कृष्ट उत्पादों ने खूब रिझाया। मीट मध्यप्रदेश सरकार द्वारा भारत सरकार एवं सीआईआई आदि के सहयोग से की गई।

सरकार द्वारा वर्ष 2008 में प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों को विश्व बाजार मुहैया करवाने के लिये एमपी-एक्सपोर्टेक के रूप में की गई पहल के उम्मीद से अधिक सुखद परिणाम सामने आए हैं। इंदौर में हुई पिछली एमपी एक्सपोर्टेक की तुलना में इस बार ग्वालियर में हुई मीट में लगभग छः गुना करारनामे हुए।

गनगौर क्रिएशन्स कंपनी इंदौर के प्रमुख कमल सियाल रिवर्स बायर सेलर मीट में हुए अनुबंध काफी खुश थे। उनकी कंपनी ने सिल्वर कोटेड और अन्य धातुओं के सजावटी सामान के निर्यात का अनुबंध दक्षिण अफ्रीका की द राज कलेक्शन से किया। उनका कहना था कि मध्यप्रदेश सरकार ने हम जैसे छोटे-छोटे उद्यमियों के लिये एमपी एक्सपोर्टेक के रूप में एक बेहतर प्लेटफॉर्म मुहैया करवाया है। उनकी तरह ही इस रिवर्स बायर सेलर मीट में अनुबंध करने वाले प्रदेश के अन्य उद्यमियों ने भी राज्य सरकार द्वारा एमएसएमई सेक्टर को बढ़ावा देने के लिये की गई इस पहल की खुलकर सराहना की।

व्यावसायिक अनुबंध

इस मीट में कुल 34 व्यवसायिक अनुबंध हुए। ग्वालियर-चंबल अंचल से लगभग 183 करोड़ रूपए के करारनामे हुए हैं। इनमें आयुर्वेदिक एवं हर्बल उत्पादों के 77 करोड़, इंजीनियरिंग गुड्स के 83 करोड़ 60 लाख और प्रोसेस फूड उत्पादों के लगभग 22 करोड़ रूपए के करारनामे शामिल हैं।

मध्यप्रदेश लघु उद्योग विकास निगम के मुख्य महाप्रबंधक श्री आर. पी. सिंह ने बताया कि इस मीट में इंदौर अंचल के लगभग 124 करोड़, जबलपुर क्षेत्र के लगभग 126 करोड़, मंडला के 4 करोड़, मंदसौर के 66 करोड़, सिवनी क्षेत्र के एक करोड़ 71 लाख, उज्जैन के लगभग 18 लाख तथा अन्य क्षेत्र के 3 लाख 30 हजार रूपए के अनुबंध इस मीट में संपादित हुए।

मीट में 16 राष्ट्र के राजदूत, उच्चायुक्त एवं अन्य राजनयिकों ने हिस्सा लिया। इस मीट में लगभग दो दर्जन देशों के करीबन 75 खरीददार आए थे। रिवर्स बायर सेलर मीट में ग्वालियर चंबल अंचल सहित प्रदेशभर के 110 उद्यमी ने अपने उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here