कर्मचारी बीमा अस्पतालों की मरम्मत कराई जाएगी

भोपाल, दिसम्बर 2014/ श्रम, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री अंतर सिंह आर्य की अध्यक्षता में सम्पन्न कर्मचारी राज्य बीमा निगम की क्षेत्रीय परिषद की बैठक हुई। बैठक में प्रदेश के सभी कर्मचारी राज्य बीमा निगम अस्पताल के भवनों का जीर्णोद्धार, इंदौर में ईएसआई संचालित मेडिकल कॉलेज प्रारंभ करने और केन्द्र के कर्मचारी राज्य बीमा निगम अस्पतालों के राज्य स्वास्थ्य सेवाओं में विलय के विरुद्ध प्रस्ताव केन्द्र शासन को भेजने का निर्णय लिया गया।

मंत्री ने कहा कि राज्य में आम नागरिकों के लिये संचालित स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल ही रहा है। श्रमिकों को कर्मचारी राज्य बीमा निगम की स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ पहले की तरह मिलते रहना चाहिए। श्री आर्य ने बीमा अस्पतालों में चिकित्सकों और पेरामेडिकल स्टॉफ की नियमित समय पर उपस्थिति और दवाई वितरण समय पर सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। ग्वालियर, भोपाल एवं देवास के बीमा चिकित्सालयों में रोगियों को 7-7 दिन की दवाइयाँ प्रदान करने की व्यवस्था की गई है।

श्रम मंत्री ने अगले माह से बुधनी में डिस्पेन्सरी आरंभ करने, लंबित चिकित्सा देयकों का भुगतान 15 दिन के भीतर करने, मंडीदीप में शीघ्र डायग्नोस्टिक सेन्टर बनाने, बीमा अस्पतालों में 77 बीमा चिकित्सा पदाधिकारी एवं सहायक शल्य चिकित्सक की भर्ती प्रक्रिया को गति देने के लिये कार्यवाही करने, इंदौर, जबलपुर एवं ग्वालियर में मेडिकल अपील ट्रिब्यूनल के गठन, छोटे मुद्दों के निराकरण के लिये क्षेत्रीय समितियों के गठन, पन्ना जिले के पुरेना में बीमा अस्पताल खोलने की कार्यवाही करने को कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here