कानून व्यवस्था प्रगति की पहली सीढ़ी: चौहान

भोपाल, मार्च 2015/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कहा है कि बेहतर कानून व्यवस्था प्रगति की प्रथम सीढ़ी है। इस दृष्टि से मध्यप्रदेश पुलिस का प्रदेश की प्रगति में योगदान अप्रतिम है। राज्य सरकार ने पुलिस के शहीदों का सम्मान करने में विनम्र प्रयास किया है।

यहाँ ईटीवी मध्य प्रदेश पुलिस अवार्ड 2015 समारोह को संबोधित करते हुये श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश पुलिस ने डाकुओं का खत्म किया, सिमी का नेटवर्क तोड़ा और नक्सलवादियो को रोका। पुलिस के सहयोग से आज मध्य प्रदेश सर्व धर्म समभाव और साप्रदायिक शांति का जीवंत प्रतीक बन गया है। उन्होंने प्रदेश पुलिस के कर्त्तव्य परायणता की सराहना करते हुए कहा कि पुलिस कठिन परिस्थितियों में भी बेहतर काम करती है। जनसँख्या बढ़ने के साथ पुलिस बल भी बढ़ाना जरुरी है। पुलिस बल बढ़ाने का सिलसिला जारी रहेगा। पुलिस कल्याण के लिए किये गये प्रयासों की चर्चा करते हुये उन्होंने कहा कि पुलिस के लिए केन्द्र के हिसाब से मंहगाई भत्ता बढ़ाया जायेगा। पुलिसकर्मियों के लिये आवास बनाये जायेंगे।

समारोह में 34 पुलिस कर्मियों को उनकी सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश आज शांति का टापू है तो इसका श्रेय मुख्यमंत्री को जाता है। परिवहन विभाग के उत्कृष्ट अधिकारियों-कर्मचारियों को भी सम्मानित किया जायेगा। पुलिस महानिदेशक सुरेन्द्र सिंह  ने कहा कि जब समाज की ओर से पुलिस की सेवाओं का सम्मान होता है तो वह सबसे बड़ा सम्मान है।

ईटीवी के प्रमुख जगदीश चंद्र ने शिवराज सिंह चौहान को देश का सबसे बड़ा धर्मनिरपेक्ष मुख्यमंत्री बताया। संसाधनों की कमी के बावजूद मुख्यमंत्री के नेतृत्व में मध्य प्रदेश ने अभूतपूर्व आर्थिक वृद्धि दर हासिल की है। समारोह में आरक्षक , प्रधान आरक्षक, सहायक उप निरीक्षक, उप निरीक्षक, निरीक्षक स्तर से लेकर उप पुलिस अधीक्षक तक के पुलिस अधिकारियों को सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here