कॉलेज लेवल काउंसलिंग 17 से 26 जुलाई के बीच होगी

भोपाल, जुलाई 2014/ ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया में कॉलेज लेवल काउंसलिंग (सी.एल.सी.) का कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। स्नातक कक्षाओं के लिये 17 से 25 जुलाई और स्नातकोत्तर, बी. लिब., एल.एल.बी. एवं अन्य पी.जी. डिप्लोमा पाठ्यक्रमों की कक्षाओं के लिये 19 से 26 जुलाई सीएलसी होगी। इसके लिये महाविद्यालय-स्तर पर प्रवेश समिति का गठन किया जायेगा। आयुक्त उच्च शिक्षा ने प्राचार्यों को निर्देशित किया है कि प्रत्येक 100 रिक्त सीट के लिये कम से कम 5 संकाय सदस्य की प्रवेश समिति बनाई जाये। संभव हो तो संकायवार प्रवेश समिति का गठन किया जाये।

स्नातक सी.एल.सी. चरण में 17 जुलाई तक दस्तावेजों का सत्यापन एवं 18 जुलाई तक पंजीयन शुल्क जमा करवा चुके सभी अप्रवेशित अथवा सीट आवंटन अप्राप्त आवेदक सम्मिलित हो सकते हैं। स्नातकोत्तर, बी. लिब., एल.एल.बी. एवं अन्य पी.जी. डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के लिये 19 जुलाई तक दस्तावेजों का सत्यापन एवं 21 जुलाई तक पंजीयन शुल्क जमा करा चुके अप्रवेशित आवेदक सम्मिलित हो सकते हैं।

सी.एल.सी. चरण में आवेदक मध्यप्रदेश के किसी भी शासकीय अथवा अशासकीय महाविद्यालय के किसी भी पाठ्यक्रम या विषय में पात्रता होने पर प्रवेश के लिये उपस्थित हो सकता है। विभिन्न विषय समूहों में रिक्त स्थानों की सूची स्नातक के लिये 17 जुलाई और स्नातकोत्तर के लिये 18 जुलाई को सुबह 11 बजे महाविद्यालय के सूचना-पटल पर लगाई जायेगी। इच्छुक आवेदक को स्नातक के लिये 17 या 18 जुलाई तथा स्नातकोत्तर के लिये 19 अथवा 21 जुलाई को महाविद्यालय में उपस्थित होकर निर्धारित प्रारूप में आवेदन प्रवेश समिति को प्रस्तुत करना होगा।

सी.एल.सी. चरण में स्थान रिक्त रहने पर स्नातक पाठ्यक्रम में पूरक श्रेणी प्राप्त आवेदकों को गुणानुक्रम से प्रवेश दिया जायेगा। इस चरण के बाद पूरक श्रेणी प्राप्त आवेदकों के लिये नियमित विद्यार्थी के रूप में प्रवेश का कोई अन्य अवसर प्राप्त नहीं होगा। स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिये इस चरण में द्वितीय एवं चतुर्थ सेमेस्टर की एटीकेटी के साथ छठे सेमेस्टर की परीक्षा में सम्मिलित हो चुके या होने वाले पंजीकृत आवेदकों को स्थान रिक्त रहने पर गुणानुक्रम से प्रावधिक प्रवेश दिया जा सकेगा। स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में प्रावधिक प्रवेश प्राप्त आवेदकों को छठवें सेमेस्टर का परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद यदि एटीकेटी प्राप्त होती है, उनका प्रावधिक प्रवेश महाविद्यालय द्वारा तत्काल निरस्त कर दिया जायेगा। इस संबंध में विस्तृत जानकारी उच्च शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here