कौशल विकास मिशन में 90 हजार युवा प्रशिक्षित

भोपाल, नवंबर 2012/ प्रदेश के कौशल विकास मिशन के तहत 90 हजार युवाओं को प्रशिक्षित किया गया है। इनमें से 25 हजार 167 युवाओं को रोजगार मिल चुका है। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा ली गई तकनीकी शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी गयी। मुख्यमंत्री ने औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं में वर्तमान समय की आवश्यकताओं के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण की रणनीति बनाने के निर्देश दिये। बैठक में तकनीकी शिक्षा मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री महेंद्र हार्डिया और मुख्य सचिव आर. परशुराम भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं में रिक्त पदों की पूर्ति निश्चित समय-सीमा में हो। दूरस्थ स्थानों पर बनाये जा रहे नवीन पॉलीटेक्निक और आई.टी.आई. भवनों के साथ स्टाफ आवास गृहों की भी व्यवस्था हो। उन्‍होंने प्रदेश में 200 नये कौशल विकास केंद्र शुरू करने की कार्य-योजना बनाने को कहा। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं से प्रशिक्षित युवाओं को स्वरोजगार की योजनाओं में प्राथमिकता दी जाये। इन संस्थाओं में नियुक्त प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दें। विभिन्न कोल कंपनियों की मदद से प्रदेश में शुरू किये जाने वाले स्कूल आफॅ माईन्स की कार्रवाई समय-सीमा में पूरी करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि आई.टी.आई. में रिक्त पदों पर चयनित युवाओं की नियुक्ति में पुलिस सत्यापन में होने वाले विलंब को देखते हुए अब उनसे शपथ-पत्र लेकर नियुक्ति दी जाये।

आई.टी.आई. ब्रांड बनेंगे

बैठक में बताया गया कि प्रदेश में कौशल विकास केंद्रों के माध्यम से ग्राम स्तर तक दी जाने वाली तकनीकी शिक्षा की सराहना राष्ट्रीय स्तर पर की गयी है। अब आई.टी.आई.को ब्रांड बनाने के लिये काम किया जा रहा है। आई.टी.आई.में स्मार्ट क्लास रूम के साथ लेंग्वेज लेब, कम्प्यूटर लेब, प्लेसमेंट सेल की व्यवस्था की जा रही है। आई.टी.आई. में महिलाओं के रूझान वाले व्यवसायों को चिन्हित किया गया है। तकनीकी संस्थाओं से प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार के लिये वृहद युवा मेला आयोजित किया जायेगा। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं में इस वर्ष 30 हजार 701 विद्यार्थियों को प्रवेश दिया गया है, जो गत वर्ष से 9 हजार अधिक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here