ग्लोबल, ग्रीन और स्मार्ट सिटी बनेगा भोपाल

भोपाल, अक्टूबर 2014/ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भोपाल को ग्लोबल सिटी, ग्रीन सिटी और स्मार्ट सिटी बनाने के लिये सभी जरूरी अधोसंरचनाओं का निर्माण किया जायेगा। उन्होंने कहा कि भोपाल को क्रमश: प्लास्टिक और पॉलीथीन मुक्त बनाने के लिये भी जन-सहयोग के माध्यम से विशेष प्रयास किये जायेंगे। श्री चौहान आज यहाँ भोपाल-ब्यावरा सड़क परियोजना में सिंगारचोली रेलवे क्रासिंग पर बनने वाले रेलवे ओव्हर ब्रिज के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने रेलवे ब्रिज का निर्माण एक साल के भीतर पूरा करने के निर्देश दिये। भोपाल-ब्यावरा सड़क परियोजना का काम लाल घाटी से शुरू होकर एयरपोर्ट तिराहे त‍क चार लेन बनाया जायेगा। सिंगारचोली रेलवे क्रासिंग पर रेलवे ओव्हर ब्रिज बनने से भोपाल शहर से हवाई अड्डे तक जाने वाले लोगों को ट्रेफिक के दबाव से राहत मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि भोपाल को ग्लोबल और स्मार्ट सिटी बनाने के साथ-साथ इसकी हरियाली को भी सुरक्षित रखा जायेगा। जल्दी ही भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार स्मार्ट सिटी बनने का सपना भी पूरा होगा। उन्होंने स्वच्छ मध्यप्रदेश बनाने में लोगों के उत्‍साहपूर्वक भागीदारी की सराहना की।

श्री चौहान ने कहा कि सड़क निर्माण के क्षेत्र में आज मध्यप्रदेश पूरे देश में पहचान बना चुका है। मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम ने लगभग 45 हजार करोड़ रूपये की सड़क निर्माण परियोजनाओं को हाथ में लिया है। यह अपने आप में एक इतिहास है। उन्होंने कहा कि आज विकास के सभी क्षेत्रों में मध्यप्रदेश को नई पहचान मिली है। उन्होंने युवा इंजीनियर्स का आव्हान किया कि वे मुख्यमंत्री युवा कांट्रेक्टर और मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजनाओं का लाभ लेते हुए रोजगार प्राप्त करने वाले नहीं बल्कि रोजगार देने वाले बनें। उन्होंने बताया कि लोक निर्माण विभाग की ओर से इच्छुक युवाओं को तीन माह का प्रशिक्षण और 5000 रूपये की शिष्यवृत्ति दी जायेगी। इस दौरान उन्हें अकादमिक, तकनीकी और मैदानी प्रशिक्षण भी मिलेगा। ठेके के लिये 2 लाख रूपये के बजाय केवल 25 हजार रूपये ही जमा करना पड़ेगा और पहले ठेके पर अर्नेस्ट मनी का 50 प्रतिशत ही जमा करना होगा। उन्होंने बताया कि युवा उद्यमी योजना में 10 लाख से एक करोड़ रूपये तक का बेंक लोन मिलेगा और इसे चुकाने की गारंटी सरकार लेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं को टेक्नॉलाजी, मार्केटिंग और पूँजी सुविधा सरकार उपलब्ध करवायेगी। श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने युवाओं के भविष्य और प्रदेश की समृद्धि के लिये एक रोड मेप तैयार किया है। उन्होंने नागरिकों का आव्हान किया कि मध्यप्रदेश के स्थापना दिवस एक नवम्बर को उत्सव के रूप में मनायें और मध्यप्रदेश को समृद्ध प्रदेश बनाने का संकल्प लें।

लोक निर्माण मंत्री श्री सरताज सिंह ने कहा कि आज मध्यप्रदेश का कायाकल्प हो गया है और चारों तरफ विकास दिख रहा है। मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम की राष्ट्रीय पहचान बन गई है। विकसित राज्य भी मध्यप्रदेश की सराहना कर रहे हैं। स्थानीय विधायक श्री रामेश्वर शर्मा ने श्री चौहान को दूरदर्शी सोच वाला मुख्यमंत्री बताते हुए इस परियोजना को शुरू करने के लिये उनका आभार व्यक्त किया। प्रमुख सचिव लोक निर्माण श्री प्रमोद अग्रवाल ने भोपाल-ब्यावरा सड़क परियोजना के प्रमुख बिन्दु की जानकारी दी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने रेलवे क्रासिंग पर पूरी मुस्तैदी से कर्त्तव्य निभाने वाले सेवानिवृत्त हो रहे पुलिसकर्मी श्री रामनरेश पाण्डे को सम्मानित किया।

यह है परियोजना

भोपाल-ब्यावरा मार्ग (राष्ट्रीय राजमार्ग-12) के कुल 105.6 किलोमीटर मार्ग के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य बी.ओ.टी. आधार पर मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम द्वारा किया जा रहा है। परियोजना में वर्तमान 2 लेन सड़क को 4 लेन सड़क में परिवर्तित किया जायेगा। परियोजना की कुल लागत 776.24 करोड़ रुपये है। परियोजना में सहयोग के लिये मे. ट्रान्सट्राय इंडिया लिमिटेड, हैदराबाद से अनुबंध किया गया है। परियोजना दो वर्ष में पूरी होगी।

परियोजना के बीच में पड़ने वाले आठ आबादी वाले ग्रामीण क्षेत्र में सर्विस रोड का प्रावधान किया गया है। इस प्रकार रोड के आर-पार सुगम आवागमन के लिये 7 अंडर पास, ग्रेड सेपरेटर्स, एक रेलवे ओवर ब्रिज, वृहद पुल, 10 मध्यम पुल एवं 74 पुलिया का निर्माण किया जायेगा।

परियोजना में भोपाल शहर में 7.5 किलोमीटर एवं अन्य बसाहट वाले ग्राम में कुल 6 किलोमीटर सर्विस रोड का प्रावधान है। भोपाल-बायपास क्रासिंग पर फ्लाई ओवर का निर्माण होगा। सिंगारचोली रेलवे क्रासिंग पर आर.ओ.बी. और पार्वती नदी पर वृहद पुल सहित 10 मध्यम पुल एवं 74 पुलिया का निर्माण होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here