चक्रवात से होने वाली अति वर्षा से बचाव के निर्देश

भोपाल, अक्टूबर 2014/ राज्य शासन ने भारत के तटीय क्षेत्रों में आए चक्रवात के प्रभाव से प्रदेश के जिलों में प्रशासन को अत्याधिक वर्षा की स्थिति से निपटने के निर्देश जारी किए हैं। आज पुन: दो दिन पूर्व दिए गए निर्देश दोहराए गए हैं। इसके अनुसार विशेषकर जबलपुर, रीवा और शहडोल संभाग में अचानक भारी वर्षा की आशंका के मद्देनजर स्थानीय प्रशासन को समुचित तैयारी रखने को कहा गया है। यह भी हिदायत दी गई है कि जन-धन की हानि को रोकने का प्रयास हो और नागरिकों की आवश्यक सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।

राज्य शासन ने निर्देश दिए हैं कि विशेष रूप से नदी-नालों और निचली बस्तियों की बसाहट के निवासियों को अस्थायी शिविर में रखने की तैयारी भी की जाए। प्रमुख सचिव राजस्व एवं राहत आयुक्त ने आज पुन: भारत सरकार के मौसम विभाग की जानकारी के आधार पर अगले दो-तीन दिन यही सर्तकता रखने के निर्देश जिलों को भेजे हैं।

अति वर्षा से निपटने के लिए आवश्यक सावधानी बरतने का संदेश दिया गया है। इसके लिए सतना जिले में कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रों में डोंडी पिटवायी है। मनुष्यों की सुरक्षा के साथ ही पशुओं के लिए भी विशेष व्यवस्थाएँ करने को कहा गया है। सीधी एवं रीवा में भी स्थिति पर निगाह रखने को कहा गया है। शहडोल में हो रही वर्षा की स्थिति पर नजर रखते हुए प्रशासन ने राजस्व अमले को सर्तक किया है। जबलपुर कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को अगले दो-तीन दिन छुट्टी पर न जाने के निर्देश दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here