जबलपुर से शुरू होगी 24 घंटे विद्युत आपूर्ति

भोपाल, जनवरी 2013/ जबलपुर जिले को गैर-कृषि क्षेत्र में 24 घंटे थ्री-फेस तथा कृषि क्षेत्र में न्यूनतम 8 घंटे विद्युत आपूर्ति शुरू होने का गौरव प्राप्त होने जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जबलपुर को मिलने वाली इस सौगात का अटल ज्योति अभियान से 20 जनवरी को शुभारंभ करेंगे। इससे 1352 ग्राम, 31 हजार 263 कृषि उपभोक्ता, 4 लाख 48 हजार से ज्यादा निम्न-दाब उपभोक्ता तथा 306 उच्च-दाब उपभोक्ता सीधे तौर पर लाभान्वित होंगे।

जबलपुर में योजना का स्वरूप

जबलपुर जिले में योजना में 11 के.व्ही. 1883 किलोमीटर लाइनों का निर्माण, निम्न-दाब की 1464 किलोमीटर लाइनों का केबलीकरण, 25 के.व्ही.ए. के 2444 वितरण ट्रांसफार्मर की स्थापना के अधोसंरचना विकास के कार्य किये गये हैं। योजना में 177 फीडर को स्वतंत्र विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था की गई है।

परिणाम

विभिन्न योजनाओं में किये गये कार्यों के परिणाम स्वरूप कई फीडर पर विद्युत हानि कम होकर 10 से 15 प्रतिशत नियंत्रित हुई है। यदि सम्पूर्ण जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का समन्वित रूप से देखा जाये तो वर्ष के प्रथम त्रैमास में वितरण हानियाँ 43 प्रतिशत थीं, जो घटकर तृतीय त्रैमास में 27 प्रतिशत तक आ गई हैं। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में उपभोक्ताओं की संख्या जहाँ योजना शुरू होने से पहले 1.70 लाख थी, वह वर्ष 2012 में 2.05 लाख हो गई है।

अटल ज्योति अभियान के लाभ

अटल ज्योति अभियान के क्रियान्वयन से 24 घंटे थ्री-फेस विद्युत प्रदाय से वैश्विक संचार, सूचना संसाधनों का अद्यतन लाभ आम आदमी तक पहुँचाना सुनिश्चित हो सकेगा। रेलवे आरक्षण, बैंकिंग, ऑनलाइन पेमेंट सुविधाएँ आदि व्यापक स्वरूप में गाँव-गाँव तक पहुँच पायेगी। प्रकाश, शीतलीकरण, ऊष्मा, मनोरंजन, यांत्रिक सुविधाएँ बिजली आधारित होती हैं। 24 घंटे बिजली की उपलब्धता से लोगों का जीवन-स्तर बढ़ेगा। साथ ही शिक्षा सुविधाओं में व्यापक वृद्धि तथा प्रसार एवं वैश्विक शिक्षा सुविधाएँ इंटरनेट के माध्यम से सबकी पहुँच में होंगी। इसी तरह स्वास्थ्य सुविधाएँ बिजली की उपलब्धता से सदैव ग्रामीणों की पहुँच में बनी रहेंगी। रोजगार के अवसरों में वृद्धि से गाँव से शहर की ओर पलायन नियंत्रित होगा ही तथा नवीन उद्योग धंधों की स्थापना भी संभव हो सकेगी।

विद्युत प्रदाय में वृद्धि

प्रदेश में विगत वर्षों में विद्युत आपूर्ति के घंटे बढ़ाते हुए विद्युत प्रदाय में निरंतर वृद्धि दर्ज हो रही है। वित्तीय वर्ष 2013-14 में 61 हजार 422 मिलियन यूनिट विद्युत प्रदाय किये जाने का अनुमान है। यह वृद्धि 17.20 प्रतिशत होने की संभावना है।

विद्युत आपूर्ति के इनपुट में वृद्धि

जबलपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी विगत वर्षों में लगातार विद्युत आपूर्ति के घंटे बढ़ाकर इनपुट में वृद्धि की गई है। अब फीडर सेपरेशन के बाद वित्तीय वर्ष 2010-11 की तुलना में वर्ष 2013-14 में विद्युत आपूर्ति में लगभग 70 प्रतिशत की वृद्धि हो सकेगी।

कृषि को न्यूनतम 8 घंटे बिजली

ग्रामीण क्षेत्रों में विभक्तिकृत 11 के.व्ही. फीडर के माध्यम से कृषि कार्यों के लिये कम से कम 8 घंटे निरंतर विद्युत प्रदाय करने से प्रदेश के सिंचित रकबे में वृद्धि होगी तथा जल-स्रोतों का समुचित उपयोग हो सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here