जॉब फेयर्स के जरिए सवा युवाओं का प्लेसमेंट

भोपाल, फरवरी 2013/ शिक्षित युवाओं को निजी और शासकीय क्षेत्र में रोजगार दिलवाने के लिये मध्यप्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई जॉब फेयर योजना में अभी तक 1 लाख 22 हजार से अधिक युवा को प्लेसमेंट मिला है। अभी तक 797 जॉब फेयर्स में 1 लाख 10 हजार से अधिक युवा को निजी क्षेत्र में, 3,872 को वायु सेना तथा 2,224 को थल सेना में रोजगार मिला है। इसके अलावा 7,120 केरियर काउंसलिंग शिविर के माध्यम से 1 लाख 33 हजार से अधिक युवा को स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद केरियर के बारे में विशेषज्ञों द्वारा परामर्श दिया गया है।

शिक्षित युवाओं को विभिन्न क्षेत्र में रोजगार दिलवाने के उद्देश्य से उद्योग विभाग के रोजगार प्रभाग द्वारा वर्ष 2008-09 से जॉब फेयर एवं केरियर काउंसलिंग योजना शुरू की गई है। इसमें रोजगार कार्यालयों के माध्यम से निजी और सार्वजनिक संस्थानों में रिक्त पदों की भर्ती के लिये जॉब फेयर लगाया जाता है। प्रदेश और प्रदेश के बाहर औद्योगिक संस्थानों में उनके यहाँ आवश्यक जनशक्ति भर्ती के लिये जिले में कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित समिति जॉब फेयर लगाती है। इसके लिये जिला प्रशासन द्वारा प्रशासकीय और वित्तीय मदद दी जाती है।

वायु सेना, थल सेना और जल सेना में सैनिक, तकनीकी और लिपिकीय पदों पर मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने के लिये क्षेत्रीय भर्ती सेन्टर द्वारा प्रस्ताव भेजा जाता है। जिला रोजगार कार्यालय के माध्यम से इसके लिय आवश्यक सहयोग दिया जाता है। प्रत्येक जिले में वर्ष 2012-13 में कम से कम दो जॉब फेयर का लक्ष्य रखा गया है। भोपाल, जबलपुर, इंदौर, ग्वालियर, देवास और धार जैसे बड़े जिलों में वर्ष में 4 जॉब फेयर का लक्ष्य दिया गया है।

जॉब फेयर योजना के पहले वर्ष 2008-09 में कुल 10 हजार 562 युवाओ को प्लेसमेंट मिला। इनमें से 9,652 की निजी क्षेत्र में और 910 की भारतीय वायु सेना में भर्ती हुई। दूसरे वर्ष 2009-10 में 9,881 युवा को जॉब मिला। इनमें से 8,651 की निजी क्षेत्र में तथा 1,230 की वायु सेना में भर्ती हुई। वर्ष 2010-11 में 22 हजार 201 युवा को जॉब मिला। इनमें से 20 हजार 710 को निजी क्षेत्र में, 800 को भारतीय वायु सेना में तथा 691 को थल सेना में रोजगार मिला। वर्ष 2011-12 में 35 हजार 12 युवा को प्लेसमेंट मिला। इनमें 29 हजार 967 को निजी क्षेत्र में, 428 वायु सेना में तथा 4,617 को थल सेना में प्लेसमेंट मिला। वर्ष 2012-13 में जनवरी के अंत तक 44 हजार 479 से युवा को प्लेसमेंट मिला। इनमें से 41 हजार 59 को निजी क्षेत्र में, 504 को वायु सेना में तथा 2,916 को थल सेना में काम मिला।

केरियर काउंसलिंग

स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद विद्यार्थियों को केरियर के बारे में परामर्श देने कार्य भी किया जा रहा है। अभी तक 7,120 शिविर में 1 लाख 35 हजार से अधिक विद्यार्थी को परामर्श दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here