दृष्टिहीनता रोकने में स्वयंसेवी संगठनों का सहयोग जरूरी

झोतेश्‍वर, जून 2013/ राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने स्वयंसेवी संगठनों का आव्हान किया है कि वे दृष्टिहीनता की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों में सक्रिय रूप से सहभागी बनें। राष्ट्रपति नरसिंहपुर जिले के झोतेश्वर में स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा स्थापित शंकराचार्य नेत्रालय का उद्घाटन कर रहे थे।

इस अवसर पर जगद्गुरु शंकराचार्य शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती, राज्यपाल रामनरेश यादव, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा उपस्थित थे।

राष्ट्रपति ने कहा कि विश्व के 3 करोड़ 90 लाख दृष्टि-बाधित लोग में से 20 प्रतिशत भारत में हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नेत्र रोग उन्मूलन के लिए समयबद्ध कार्यक्रम बनाया है। भारत में 1976 से राष्ट्रीय अंधत्व निवारण कार्यक्रम चल रहा है। इस नेत्रालय से ग्रामीण अंचल के जरूरतमंद लोगों को काफी सुविधा मिलेगी।

त्रिपुर सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने झोतेश्वर में राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना की। राज्यपाल रामनरेश यादव और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी उनके साथ थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here