देश के विकास में प्रदेश का बड़ा योगदान

ग्‍वालियर, जून 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ग्वालियर और चंबल विकास की अपार संभावनाओं वाले क्षेत्र हैं। हम चाहते हैं कि बड़े उद्योग आयें और यहाँ के युवा भी उद्यमी बनें। प्रदेश में उद्योग मित्र नीति बनाई गई है। मुख्यमंत्री ग्वालियर में इंडिया टुडे समूह द्वारा आयोजित उभरता चंबल  कानक्लेव को संबोधित कर रहे थे।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पर्यटन, उद्योग, मानव संसाधन और जरूरी अधोसंरचनाओं का विकास कर इन क्षेत्रों के विकास को और गति दी जायेगी। किसी समय दस्यु समस्या के लिये जाने जाना वाला चंबल क्षेत्र अब तेजी से विकास क्षेत्र के रूप में उभर रहा है। देश की विकास दर पाँच प्रतिशत है जबकि मध्यप्रदेश ने पिछले पाँच साल में लगातार दो अंकों में विकास दर हासिल की है। प्रदेश की कृषि विकास दर लगभग 19 प्रतिशत है जो देश में सर्वाधिक है। भारत की विकास दर बढ़ाने में भी मध्यप्रदेश का महत्वपूर्ण योगदान होगा।

चंबल के बीहडों को समतल कर औद्योगिक विकास योग्य बनाने की दिशा में तेजी से प्रयास चल रहे हैं। आज इस क्षेत्र में उच्च शिक्षा संस्थान आ रहे हैं। छोटे उद्योगों के विकास एवं विस्तार पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है। चंबल क्षेत्र के विकास के लिये व्यापक अधोसंरचना तैयार हो गई है। सीतापुर औद्योगिक क्षेत्र बनाया गया है। मुरैना-ग्वालियर-शिवपुरी-गुना को नये इंडट्रियल कारीडोर के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया है। केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री प्रदीप जैन ने कहा कि क्षेत्र विकास के लिये राज्य और केन्द्र दोनों को साथ मिलकर काम करना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here