नर्मदा को प्रदूषण मुक्त करने 1300 करोड़ की योजना

होशंगाबाद, फरवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नर्मदा नदी को प्रदूषण मुक्त करने के लिए 1300 करोड़ रुपये की योजना को प्रभावी रूप से क्रियान्वित किया जायेगा। नालों के पानी को नर्मदा में मिलने से रोका जायेगा। इस कार्य में समाज के सभी वर्गों का सक्रिय सहयोग लिया जायेगा। श्री चौहान होशंगाबाद के सेठानी घाट पर नर्मदा जयंती महोत्सव में उपस्थित जन-समूह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने माँ नर्मदा की सपत्नीक पूजा-अर्चना की। लोगों को नर्मदा जल प्रदूषित न करने का संकल्प दिलवाया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा मध्यप्रदेश की जीवन-रेखा है और इसी से प्रदेश में समृद्धि और खुशहाली का मार्ग प्रशस्त हुआ है। इस अवसर पर उन्होंने प्रार्थना की कि मध्यप्रदेश में सुख-समृद्धि बनी रहे, युवाओं को रोजगार मिले, किसानों पर प्राकृतिक आपदा न आये और उद्योग-धंधे फलें-फूलें। ऐसे उद्योगों की स्थापना की जायेगी जिनसे नर्मदा जल प्रदूषित न हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं को रोजगार में मदद के लिए मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना शुरू की जा रही है। महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में प्रभावी कदम उठाये गये हैं। प्रदूषण मुक्त वातावरण निर्मित करने के लिए प्रत्येक घर में शौचालय का निर्माण करने में सहायता दी जा रही है। हर नागरिक को नर्मदा तट पर कम से कम एक वृक्ष हर साल लगाना चाहिए। इसके लिए हरियाली चुनरी योजना के कार्य में गति लाई जाये। मुख्यमंत्री तथा अन्य अतिथियों ने विधि-विधान से माँ नर्मदा की पूजा कर जलाभिषेक किया। सेठानी घाट तथा अन्य घाटों पर आतिशबाजी की गई। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने दीप-दान किया। सेठानी घाट को भव्य और आर्कषक ढंग से सजाया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here