नर्मदा नदी समाज की श्रद्धा एवं आस्था का केन्द्र: मुख्‍यमंत्री

जबलपुर, फरवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नर्मदा भारतीय समाज में प्राचीन काल से ही श्रद्धा एवं आस्था का केन्द्र रही है। अमरकंटक से लेकर गुजरात के भड़ूच तक नर्मदा किसानों के खेतों को पानी तथा लोगों एवं जीव-जन्तुओं को पेयजल उपलब्ध करवाती है। प्रदेश की अधिकांश जल विद्युत परियोजनाएँ नर्मदा नदी पर ही बनी हैं। नर्मदा जल से आम आदमी को 24 घंटे बिजली की आपूर्ति संभव हो सकी है।

मुख्यमंत्री जबलपुर में 100 करोड़ रूपये से अधिक की लागत के उमाघाट और सिद्धघाट के सौन्दर्यीकरण कार्य सहित विभिन्न विकास और निर्माण कार्यों का लोकार्पण कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि जबलपुर में गरीबों को आवास सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए 1700 आवास का निर्माण करवाया जायेगा। जबलपुर को देश के सुन्दर एवं पर्यटक शहर के रूप में विकसित करने के लिए एक करोड़ का अनुदान नगर निगम को दिया जायेगा।

श्री चौहान ने नर्मदा नदी के जल को साफ रखने के लिए उसमें अपशिष्ट और गंदे पानी को नहीं मिलने देने की जरूरत पर बल दिया। नर्मदा के दोनों किनारों पर सघन वृक्षारोपण करने से नदी प्रदूषणमुक्त रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here