नर्मदा से मिलेगी क्षिप्रा : मिलेगा नया जीवन

भोपाल, अगस्‍त 2012/ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान प्रस्तावित नर्मदा-क्षिप्रा सिंहस्थ लिंक परियोजना का एक सितम्बर को हवाई सर्वेक्षण करेंगे। इस महत्वाकांक्षी परियोजना से क्षिप्रा सहित आस-पास की नदियों को जीवन दान मिलेगा। इस परियोजना से नदियों को जोड़कर वर्ष भर निर्मल जल प्रवाहित करने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य होगा।

इस परियोजना में ओंकारेश्वर परियोजना नहर का पानी खरगोन जिले के सिसलिया तालाब में डाला जायेगा। यहाँ से पाँच मिलियन क्यूबिक मीटर नर्मदा जल को निकालकर इंदौर जिले के उज्जैयिनी गाँव में छोड़ा जायेगा। नर्मदा का यह जल उज्जैयिनी से जीजालवंती नामक स्थानीय जल मार्ग के जरिये लगभग 50 किलोमीटर दूर क्षिप्रा ले जाने का प्रस्ताव है। यहीं से क्षिप्रा नदी को नया जीवन देने का काम शुरू होगा। इस परियोजना से देवास एवं उज्जैन जिले की पेयजल की समस्या हल होगी। सिंहस्थ में लाखों श्रद्धालुओं को क्षिप्रा नदी के प्रवाहमान जल में स्नान करने का भी सुख मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here