नारी का सम्मान बढ़ाने को प्रतिबद्ध है मध्यप्रदेश सरकार: शिवराज

जबलपुर, जनवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्वामी विवेकानंद का व्यक्तित्व और कृतित्व आज के भौतिक परिवेश में और भी अधिक प्रासंगिक है। स्वामी जी ने कहा था कि मैं उस प्रभु का सेवक हूँ जिसे अज्ञानी लोग मनुष्य‘ कहते हैं। मनुष्य जैसा सोचता है, वैसा ही बन जाता है। मनुष्य को अपने अंतर्मन के उच्चतम स्तर पर जाकर अपनी प्रतिभाओं और क्षमताओं को विकसित करने की जरूरत है। मुख्यमंत्री जबलपुर के शासकीय मोहनलाल हरगोविन्ददास स्वशासी गृह विज्ञान एवं विज्ञान महिला महाविद्यालय में स्वामी विवेकानंद के सार्धशती वर्ष समारोह में उनकी प्रतिमा का अनावरण कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने वार्षिक पत्रिका का विमोचन एवं स्वर्ण पदक अलंकरण वितरित किये।

श्री चौहान ने छात्राओं से अपील की वे स्वामी विवेकानंद का साहित्य पढ़ें, जो जीवन को उत्साह से भर देता है। राज्य सरकार ने लाड़ली लक्ष्मी योजना के माध्यम से मध्यप्रदेश में बेटियों को आनंद और उत्सव का कारण बनाने की कोशिश की है। आज प्रदेश में 13 लाख से अधिक बेटियाँ लाड़ली लक्ष्मी बन चुकी हैं।

मुख्यमंत्री ने महिलाओं के प्रति अपराध में संलग्न अपराधियों को 45 से 60 दिन के भीतर कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मंशा व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे लोगों को समाज से हतोत्साहन मिलना चाहिए। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने तय किया है कि महिलाओं से छेड़-छाड़ करने वालों को ड्राइविंग लायसेंस, शस्त्र लायसेंस और चरित्र प्रमाण पत्र नहीं दिये जायेंगे। यदि कोई शासकीय सेवक ऐसे कृत्य में लिप्त पाया गया, तो उसे सरकारी सेवा से बाहर कर दिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश के सभी महाविद्यालयों एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में विद्यार्थियों विशेषकर बेटियों को आत्म-सुरक्षा के लिए मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दी जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कॉलेज की वार्षिक पत्रिका अभिव्यक्ति  के युवा शक्ति विशेषांक एवं शोध पत्रिका अनुसंधान  का भी विमोचन किया। उन्होंने घोषणा की कि कॉलेज में छात्राओं के लिए कॉमन रूम और जरूरत के मुताबिक अतिरिक्त कक्ष भी बनवाए जाएँगे। मुख्यमंत्री ने एमएससी संकाय में बायोटेक और होटल मैनेजमेंट के दो नये कोर्स परीक्षण उपरांत अगले शैक्षणिक सत्र से प्रारंभ करने की घोषणा की। कहा कि कॉलेज का यथा आवश्यकतानुसार अलग से छात्रावास भवन बनाया जायेगा।

विधानसभा अध्यक्ष ईश्वरदास रोहाणी, गृह मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री उमाशंकर गुप्ता, पशुपालन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री अजय विश्नोई, सांसद राकेश सिंह,सहित कई जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति के बीच संपन्न समारोह में मुख्यमंत्री ने एनसीसी परेड एवं शैक्षणिक गतिविधियों में उल्लेखनीय प्रदर्शन करने वाली 13 छात्राओं को स्वर्ण पदक से भी नवाजा।

मुख्यमंत्री ने प्रवास के दौरान होम साइंस कॉलेज के कार्यक्रम में मौके पर ही दो बच्चों को पोलियो ड्राप पिलाकर बच्चों के स्वस्थ एवं उज्जवल भविष्य की कामना की।

गुरु गोविंद सिंह का जीवन प्रेरणादायक

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुगोविंद सिंह ने देश, समाज और भारतीय संस्कृति की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। उन्होंने खालसा पंथ की स्थापना की तथा अन्याय और अत्याचार के खिलाफ जीवन भर संघर्ष किया। गुरुजी का जीवन हमेशा प्रकाश और प्रेरणा देता है। गुरूजी का सच्चा शिष्य वही कहलायेगा जो उनकी शिक्षाओं का अनुसरण करेगा। मुख्यमंत्री जबलपुर में प्रकाश उत्सव को संबोधित कर रहे थे। उत्सव का आयोजन खालसा हायर सेकेण्डरी स्कूल परिसर में किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here