निवेश प्रस्तावों पर अमल में सहयोग करें कलेक्टर-कमिश्नर : मुख्य सचिव

भोपाल, नवंबर 2012/ मुख्य सचिव आर. परशुराम ने वीडियो कान्फ्रेन्सिंग द्वारा सभी कलेक्टरों और कमिश्नरों को अपने कार्य क्षेत्र में निवेशकों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करवाने के लिए प्रो- एक्टिव रहने और उद्योगों की स्थापना के लिए जरूरी अधोसंरचना उपलब्ध करवाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने को कहा है। हाल ही में इंदौर में सम्पन्न ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की आशातीत सफलता का उल्लेख करते हुए उन्‍होंने कहा कि लघु और मध्यम श्रेणी के उद्योगों की स्थापना के लिए चिन्हाकित की गई भूमि उपलब्ध करवाने और अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने पर ध्यान दिया जाए।

मुख्य सचिव ने कहा कि प्रदेश के लगभग सभी जिलों में निवेश के लिए बड़ी संख्या में प्रस्ताव मिले हैं जो एक उपलब्धि है। राज्य सरकार द्वारा इन्वेस्टर्स सेवा गारंटी योजना लागू किए जाने की घोषणा महत्वपूर्ण है। बड़े उद्योगों के साथ ही लघु और मध्यम उद्योग राज्य में बड़ी संख्या में युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने में मददगार होंगे। इस दृष्टि से उद्योग स्थापना के लिए सहयोगी वातावरण बनाना राज्य के विकास के लिए भी अति उपयोगी है। राज्य की उद्योगहितैषी नीतियों और स्वास्थ्य और कौशल विकास जैसे नए क्षेत्रों में निवेश की पहल अप्रत्याशित विकास का माहौल बना रही है। इन्वेस्टर्स समिट के बाद शासन-प्रशासन द्वारा क्रियान्वयन के स्तर पर सक्रिय भूमिका का निर्वहन होना चाहिए। अपर मुख्य सचिव उद्योग वाणिज्य एवं रोजगार प्रसन्न दाश ने संभागवार प्राप्त निवेश प्रस्तावों का जिक्र करते हुए बताया कि लघु उद्यमियों के लिए इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन प्रस्तावित है। जिलों में नवीन औद्योगिक इकाईयों की स्थापना के संबंध में शीघ्र ही वीडियो कान्फ्रेन्सिंग की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here