न कौमार्य परीक्षण हुआ न प्रिगनेन्सी टेस्ट

बैतूल, जून 2013/ बैतूल जिले की चिचोली जनपद पंचायत के ग्राम हरदू में 7 जून, 2013 को मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत हुए सामूहिक विवाह कार्यक्रम में न तो कोई कौमार्य परीक्षण किया गया और न कोई प्रिगनेन्सी टेस्ट हुआ। यह निष्कर्ष महिला आईएएस अधिकारी, सहायक कलेक्टर बैतूल सुश्री नेहा माख्या द्वारा की गई इस मामले की जाँच में सामने आया है।

बहरहाल, जाँच अधिकारी ने आयोजन से जुड़े कुछ कामों में अनियमितता होना पाया है। इसके लिये उन्होंने जनपद पंचायत चिचोली के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के विरुद्ध कार्यवाही की अनुशंसा की है। यह अनियमितताएँ निविदाओं, सामग्री क्रय एवं अन्य व्यवस्थाओं से संबंधित हैं। जाँच अधिकारी ने गैर जिम्मेदारी से मीडिया को बयान देने वाली सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चिचोली की एलएचव्हीटी के विरुद्ध कार्यवाही की भी अनुशंसा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here