पन्ना टाइगर रिजर्व में हुई गणना में मिले 867 गिद्ध

भोपाल, जनवरी 2013/ पन्ना टाइगर रिजर्व में गत 16 जनवरी से प्रारंभ गिद्ध गणना-2013 समाप्त हो चुकी है। गणना के दौरान 867 गिद्ध पाये गए जिनमें 160 प्रवासी गिद्ध और 48 अचिन्हित शामिल हैं। गिद्ध गणना-2013 की तकनीकी रिपोर्ट फरवरी माह के अन्त तक आने की उम्मीद है। इसके अलावा पार्क में स्थानीय गिद्धों के 102 जीवित घोंसले भी पाए गए। अप्रैल-मई 2013 में दोबारा इन घोंसलों का मौके पर निरीक्षण कर पन्ना टाईगर रिजर्व में गिद्धों की प्रजनन सफलता का आकलन किया जाएगा। पन्ना टाईगर रिजर्व में वर्ष 2010 से गिद्धों की गणना प्रतिवर्ष जनवरी माह में की जा रही है। गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष गिद्धों की संख्या में कमी पाई गई, जिसका कारण संभवतः गणना के दौरान क्षेत्र के तापमान में अचानक हुई वृद्धि है। पार्क में भारतीय उप महाद्वीप में पाई जाने वाली 9 प्रजातियों में से 7 प्रजातियों के गिद्ध पाये गए।

क्षेत्र संचालक, पन्ना टाइगर रिजर्व आर.श्रीनिवास मूर्ति ने बताया कि गिद्ध गणना-2013 के दौरान पन्ना टाईगर रिजर्व में 659 स्थानीय गिद्ध पाये गए। इनमें 476 भारतीय गिद्ध (Long Billed Vulture), 86 सफेद पृष्ठ गिद्ध (White Backed Vulture), 52 गोबर गिद्ध (Egyptian Vulture) और 45 रेड हेडेड गिद्ध शामिल हैं। इसी प्रकार पाये गए 160 प्रवासी गिद्धों में यूरेशियन ग्रिफान प्रजाति के 41, हिमालयन ग्रिफान प्रजाति के 115, सिनेरस प्रजाति के चार गिद्ध शामिल हैं। अगले वर्ष से पार्क में पेरेग्रिन प्रजाति के गिद्ध के भी गणना में शामिल किए जाने पर विचार किया जा रहा है।

टाइगर रिजर्व में वर्ष 2011 से गिद्ध गणना पी.पी.पी. पद्धति से करवाई जा रही है जिसमें पूरे भारत से पक्षी ज्ञान रखने वाले प्रतिभागी भाग लेते हैं। दो चरण में सम्पन्न होने वाली इस गणना के लिए देश के दस राज्य के कुल 112 पक्षी ज्ञानी ने आवेदन किया था। परीक्षण के बाद 94 प्रतिभागी का चयन किया गया। चयनित प्रतिभागियों में 7 राज्य-आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, हरियाणा, बिहार, महाराष्ट्र एवं नई दिल्ली के प्रतिभागी और इसके अलावा पार्क के 16 गाइड शामिल हैं। क्षेत्र संचालक और अन्य वन अधिकारियों के नेतृत्व में इस टीम ने गणना को अंजाम दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here