पहला नानाजी देशमुख सम्मान पुणे के सुयश ट्रस्‍ट को

चित्रकूट, फरवरी 2013/ राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख की स्मृति में राज्य शासन द्वारा स्थापित राष्ट्रीय सम्मान सुयश चेरिटेबल ट्रस्ट पुणे को दिया गया है। संस्कृति मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने चित्रकूट में अंलकरण समारोह में चेरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष यशवंत गोपाल को 2 लाख रुपये की सम्मान-राशि और प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर अलंकृत किया। इस अवसर पर प्रख्यात चिंतक एवं विचारक सुरेश जोशी भैयाजी विशेष रूप से उपस्थित थे।

संस्कृति मंत्री ने कहा कि स्वर्गीय नानाजी द्वारा शोषित एवं पीड़ित वर्गों के लिए की गई सेवाओं के प्रति सम्मान के लिए यह राष्ट्रीय सम्मान स्थापित किया गया है। सामाजिक, सांस्कृतिक समरसता, उत्थान, परिष्कार, आध्यात्मिक परम्परा एवं विकास तथा संस्कृति की मूल अवधारणा के लिए गहन एवं प्रतिबद्धतापूर्ण कार्य करने वाले व्यक्ति या संस्था को यह सम्मान दिया जाता है। पहली बार यह सम्मान पुणे की संस्था को दिया गया है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए सुरेश जोशी भैयाजी ने कहा कि सामाजिक जीवन में महापुरुषों के कृतित्व से रचनात्मक कार्य होते हैं और वटवृक्ष बनते हैं। महामण्डलेश्वर स्वामी अचलानंद जी महाराज ने कहा कि नारी और नारी शक्ति का सम्मान हमेशा किया जाना चाहिए। उन्होंने बेटी बचाओ अभियान की सराहना करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा नारी-सम्मान और भ्रूण हत्या को रोकने के उल्लेखनीय कार्य किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here