कांग्रेस उठाएगी भ्रष्टाचार, बिजली, सड़क व किसानों के मुद्दे

भोपाल, दिसम्बर 2012/ किसानों की रोजीरोटी उनकी बेशकीमती जमीनों का जबरिया अधिग्रहण किए जाने सहित भ्रष्टाचार, बढ़ते अपराध, खाद, बीज, बिजली और सड़क के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी की सरकार को विधानसभा के शीतकालीन सत्र में घेरा जाएगा। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की अध्यक्षता में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 4 दिसंबर से शुरू होने वाले सत्र में उठाए जाने वाले मुद्दों पर विचार किया गया। बैठक में तय किया गया जनहित के मुद्दों के प्रति सरकार की अनदेखी व बेरूखी को सदन में उठाया जाएगा और सरकार से जवाब मांगा जाएगा।

नेता प्रतिपक्ष ने बैठक में कहा कि अन्न्दाता किसानों की आज जो दुर्दशा भाजपा शासन में है वह प्रदेश के इतिहास में शर्मनाक है। पिछले नौ सालों में भाजपा ने किसान को न केवल परेशान किया, उसके साथ अन्याय किया, उन्हें धोखा दिया, बल्कि वह अब उनकी रोजी-रोटी, जमीन छीनने पर उतारू हो गई है। प्रदेश के इतिहास में किसानों के अंदर इतना आक्रोश पहले कभी नहीं देखा गया। किसानों ने अपने अधिकारों के लिए जब इस सरकार से जवाब मांगा तो एके-47 से गोलियां चलाई गई, उन्हें लाठियां मिली। कांग्रेस हमेशा से किसानों के हितों के संरक्षण के लिए वचनबद्ध रही है। उन पर जरा भी संकट आया तो कांग्रेस उनके साथ खड़ी रही है। यह वहीं दौर है जब इस प्रदेश का किसान पीड़ित, शोषित है, इसलिए कांग्रेस उनके साथ है। शीतकालीन सत्र में सरकार से पूछा जाएगा कि खेती को लाभ का धंधा बनाना, दो दो किसान महापंचायत, जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण, वह किन किसानों को दे रही है। जब उनसे जमीन छीनी जा रही है तो उनके लिए खेती लाभ का धंधा बनने और जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण देने का क्या फायदा होगा। हम सरकार को मजबूर करेंगे कि वह किसानों के हित में फैसले ले। सदन के अंदर अगर बात नहीं सुनी गई तो सड़कों पर भाजपा की किसान विरोधी नीतियों का पुरजोर विरोध किया जाएगा।

बैठक में श्री सिंह ने बढ़ते अपराध और भ्रष्टाचार को प्रदेश के भाजपा शासन काल की पिछले नौ साल की प्रमुख उपलब्धि बताई। कहा कि अपराध और भ्रष्टाचार अब सरकार के लिए चिंता का सबब नहीं है। वह निश्चिंत है। राजधानी भोपाल में सरेआम भीड़भाड़ इलाके में सरकारी मुलाजिम अपने ही दफ्तर में सुरक्षित नहीं रह गया है। यह कौन सी कानून व्यवस्था है? जनता में इसको लेकर जो आक्रोश है उसकी सरकार को खबर ही नहीं है। भ्रष्टाचारियों, अपराधियों के प्रति आंख मूंदी सरकार को इस सत्र में जागने पर मजबूर किया जाएगा।

बैठक में किसानों की जमीन अधिग्रहित किए जाने वाले मुद्दे के अलावा खाद, बीज, बिजली और सड़क के मुद्दे उठाने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा न्यूमार्केट स्थित बेशकीमती जमीन को भाजपा सरकार द्वारा औने-पौने दाम पर गेमन इंडिया को देने का मुद्दा भी उठाया जाएगा। श्री सिंह ने विधायकों से कहा कि वे जनहित विशेषकर किसानों, अनुसूचित जाति, जनजाति और अल्पसंख्यकों के प्रति सरकार के दुराभाव के खिलाफ पूरी ताकत के साथ सरकार को कठघरे में खड़ा करें ताकि जनता भाजपा सरकार के जनविरोधी चेहरे को पहचान सके।

 

गैस त्रासदी की बरसी पर श्रद्धांजलि

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में गैस त्रासदी की बरसी पर मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई। विधायक दल की बैठक में पारित एक शोक प्रस्ताव में कहा गया कि विश्व की यह भीषणतम त्रासदी राजसत्ता को औद्योगिक विकास और इंसानियत के बीच एक बेहतर तालमेल और संतुलन बनाने का सबक देती है। औद्यागिक विकास को इंसानों की कीमत पर कतई इजाजत नहीं दी जा सकती। प्रस्ताव में राज्य सरकार से कहा गया है कि वह प्रभावित परिवारों को बेहतर राहत पुनर्वास और इलाज का इंतजाम करे ताकि वह इस गहन पीड़ा को सहने की क्षमता पैदा कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here