प्रदेश के 21 जिले में सामान्य से अधिक वर्षा

भोपाल, जुलाई 2014/ प्रदेश में एक जून से 24 जुलाई तक 21 जिले में सामान्य से अधिक और 27 जिले में कम वर्षा हुई है। इसके साथ ही एक जिले में सामान्य वर्षा तथा 2 जिले में अल्प वर्षा हुई है। प्रदेश के मौसम विभाग ने यह जानकारी दी है।

प्रदेश में सामान्य से 20 प्रतिशत अधिक वर्षा वाले 4 जिले बैतूल, बुरहानपुर, हरदा तथा खण्डवा हैं। सामान्य वर्षा में +19 से -19 प्रतिशत वर्षा वाले 23 जिले में अनूपपुर, बालाघाट, छिंदवाड़ा, जबलपुर, कटनी, मण्डला, नरसिंहपुर, रीवा, सागर, सिवनी, सीधी, टीकमगढ़, बड़वानी, भोपाल, दतिया, होशंगाबाद, इंदौर, खरगोन, रायसेन, राजगढ़, सीहोर, शिवपुरी तथा उज्जैन शामिल हैं। कम वर्षा वाले -20 से -59 प्रतिशत वाले 21 जिले में छतरपुर, दमोह, डिण्डोरी, पन्ना, सतना, शहडोल, सिंगरौली, उमरिया, अलीराजपुर, अशोकनगर, देवास, धार, गुना, ग्वालियर, झाबुआ, मंदसौर, नीमच, रतलाम, शाजापुर, आगर-मालवा तथा विदिशा सम्मिलित हैं। अल्प वर्षा वाले -60 प्रतिशत या उससे अधिक 3 जिले में भिण्ड, मुरैना और श्योपुर शामिल हैं।

बुरहानपुर जिले में 23, 24 जुलाई के मध्य रात्रि तक निरंतर वर्षा होने से ताप्ती नदी में जल-स्तर खतरे के निशान 220 मीटर से बढ़कर 336 मीटर तक पहुँच गया। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से 250 परिवार के 1158 व्यक्ति को 6 राहत-शिविर में ठहराया गया और उनके भोजन एवं चिकित्सा की व्यवस्था की गई। तेज हवा और वर्षा के कारण बुरहानपुर जिले के लगभग 35 ग्राम में केले की फसल को नुकसान पहुँचा है। प्रभावित फसल का सर्वे राजस्व, कृषि, उद्यानिकी एवं ग्राम पंचायत की संयुक्त टीम द्वारा किया जा रहा है। वर्तमान में सभी अवरुद्ध मार्ग पर आवागमन प्रारंभ हो गया है तथा ताप्ती नदी का जल-स्तर खतरे के निशान से एक मीटर नीचे पहुँच गया है। खण्डवा जिले में अति-वर्षा और बाढ़ से एक जन-हानि, एक पशु-हानि तथा 12 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। हरदा जिले में सड़क मार्ग चारों तरफ से 8 घंटे तक बाधित रहा। हरदा में एक जन-हानि हुई है। भोपाल जिले में वर्षा के कारण मकान की दीवार ढहने से 2 जन-हानि एवं 7 व्यक्ति के घायल होने की जानकारी मिली है। घायल व्यक्तियों को चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। खरगोन जिले की सभी प्रमुख नदियों में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई है। जिला प्रशासन द्वारा जिले की सभी शालाओं में 23 से 25 जुलाई तक अवकाश घोषित किया गया है। रायसेन जिले के बारना बाँध में छोड़े गये पानी से राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-12 बाड़ी से भोपाल कुछ घंटों के लिये अवरुद्ध रहा। जिले की बेतवा नदी के पग्नेश्वर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-86 रायसेन से विदिशा मार्ग अवरुद्ध रहा। वर्तमान में स्थिति सामान्य है।

जबलपुर में बरगी बाँध का जल-स्तर 413.95 मीटर, तवा बाँध का जल-स्तर 347.381 मीटर एवं ओंकारेश्वर बाँध का जल-स्तर 189 मीटर निशान से कम बना हुआ है। प्रदेश में कुल 15 जन-हानि, 4 पशु-हानि, 17 व्यक्ति के घायल होने की जानकारी मिली है। अति-वर्षा से प्रदेश में 115 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here