प्रदेश के 51 जिले में शांतिपूर्वक मतगणना

भोपाल, मई 2014/ मध्यप्रदेश की 29 लोकसभा सीट के लिये सभी 51 जिला मुख्यालय पर 16 मई को सुबह 8 बजे से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतगणना हुई। मतगणना की प्रक्रिया शासकीय भवनों के 321 कक्ष/हाल में 3 हजार 255 टेबिल पर करवाई गई। इन टेबिलों पर 67 हजार 152 ईवीएम में डाले गये 2 करोड़ 96 लाख वोट की गिनती की गई। ईवीएम के वोटों की गणना के आधा घण्टा पहले डाक-मतपत्रों की गिनती की गई।

51 जिले की मतगणना के लिये 59, विदिशा विधानसभा उप चुनाव के लिये एक तथा भोपाल और जबलपुर संसदीय क्षेत्र की मतगणना के लिये आयोग द्वारा भेजे गये दो विशेष प्रेक्षक भी मतगणना के दौरान पूरे समय मौजूद रहे।

सोलहवीं लोकसभा के लिये प्रदेश में इस बार 378 उम्मीदवार 29 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव मैदान में उतरे थे। जबकि वर्ष 2009 के पिछले लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारों की संख्या 429 थी। मौजूदा चुनाव में भाजपा, कांग्रेस, बसपा और आप पार्टी के 29-29, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के 5, सीपीआई एम के 3, समाजवादी पार्टी के 9, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के 12 तथा शेष अन्य राजनैतिक पार्टी के उम्मीदवार हैं। लोकसभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों में 126 निर्दलीय भी शामिल रहे। 37 महिला उम्मीदवार ने भी अपना भाग्य आजमाया, इनमें से 5 महिला उम्मीदवार सफल भी रहीं। इनमें बैतूल से सुश्री ज्योति धुर्वे, धार से श्रीमती सावित्री ठाकुर, इंदौर से श्रीमती सुमित्रा महाजन, सीधी से सुश्री रीति पाठक तथा विदिशा से श्रीमती सुषमा स्वराज शामिल हैं। सागर से भाजपा के विजयी उम्मीदवार श्री लक्ष्मीनारायण यादव की उम्र विजयी उम्मीदवारों सबसे अधिक 73 वर्ष है।

मतगणना में ईवीएम में वोटो की गिनती के सबसे अधिक 24 चक्र (राउंड) इंदौर लोकसभा सीट के लिए हुए। मंडला और बैतूल संसदीय क्षेत्र की मतगणना में 23 राउंड हुए। दो संसदीय क्षेत्र भोपाल एवं खण्डवा की मतगणना में 22-22 राउंड हुए। छह संसदीय क्षेत्र भिण्ड, ग्वालियर, सीधी, बालाघाट, छिंदवाड़ा और रतलाम की मतगणना में 21-21 राउंड का इस्तेमाल हुआ। सबसे अधिक 8 संसदीय क्षेत्र जहाँ 20-20 चक्र में वोटों की गिनती करवाई गई, उनमें मुरैना, खजुराहो, शहडोल, जबलपुर, होशंगाबाद, विदिशा, मंदसौर और धार शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here