प्रदेश में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का बेहतर अमल

भोपाल, फरवरी 2013/ मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के बेहतर अमल से सुदूर अंचलों तक बारहमासी पक्की सड़कों का जाल बिछ रहा है। इसके साथ ही योजना में पाँच वर्ष पूर्व बनाई गई सड़कों के संधारण और डामरीकरण का कार्य भी सुचारु रूप से किया जा रहा है। प्रदेश में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के संधारण कार्यों की केन्द्र ने व्यापक सराहना की है। इस योजना में अब तक 11 हजार 514 करोड़ रुपये की लागत से कुल 51 हजार 344 किलोमीटर लम्बी 11 हजार 241 सड़कों का निर्माण पूरा हो चुका है। इन सड़कों के बन जाने से 1000 से अधिक आबादी वाले 5,948 गाँव और 500 तक की आबादी वाले 6,420 गाँव को बारहमासी सड़कों की सम्पर्क सुविधा मिल चुकी है।

प्रदेश में एशियन डेव्हलपमेंट बैंक (एडीबी) की वित्तीय सहायता से भी इस योजना में सड़कों का निर्माण हो रहा है।मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण द्वारा एडीबी की मदद से प्रदेश में 9,658 किलोमीटर लम्बी 1,991 सड़कों के निर्माण का काम जारी है। इनमें से अब तक 7,698 किलोमीटर लम्बी 1,543 सड़कें बन चुकी हैं। केन्द्र ने पिछले माली साल में समेकित कार्य-योजना (आईएपी) में शामिल प्रदेश के 8 जिलों में 1,656.7 किलोमीटर लम्बे 458 सड़क मार्गों को बनाने के लिये 532 करोड़ 82 लाख रुपये की मंजूरी दी थी। वर्तमान में इन सड़कों के निर्माण की प्रक्रिया तेजी से जारी है। इनसे आईएपी जिलों में 996 ग्रामीण बसाहट को आवागमन सुविधाओं का लाभ मिलने लगेगा।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के सतत प्रयासों से हाल ही में केन्द्र ने मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में 4,675 किलोमीटर लम्बी 1,521 नयी सड़कों के निर्माण के लिये 1,780 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है। इन सड़कों के बन जाने पर 1,600 बसाहट का बारहमासी पक्की सड़कों के जरिये विकासखण्ड, तहसील और जिला मुख्यालय से सम्पर्क हो जायेगा।

मुख्यमंत्री के प्रयासों से मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में मौजूदा वित्तीय वर्ष में सर्वाधिक सड़कों के निर्माण की मंजूरी मिली है। इस वर्ष अब तक 9,551 किलोमीटर लम्बी 2,758 सड़क के निर्माण के लिये 3,653 करोड़ रुपये की मंजूरी मिल चुकी है, जो अन्य राज्यों की तुलना में सर्वाधिक है। राज्य के सुदूर अँचलों में आवागमन सुविधाओं के विकास के लिये सघन प्रयास हो रहे हैं। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में मौजूदा वित्तीय वर्ष में मंजूर नयी सड़कों से प्रदेश के 500 से अधिक आबादी वाले 2,025 गाँव, 250 से अधिक आबादी वाले 1,278 गाँव तथा 250 से कम आबादी वाले 340 गाँव बारहमासी सड़कों के जरिये जुड़ जायेंगे। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में बनाई गई सड़कों पर 96 बड़े पुल के निर्माण की मंजूरी भी मिली है। इनमें से 14 पुल का निर्माण पूरा हो चुका है।

प्रदेश में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में निर्मित सड़कों के 5 वर्ष पूरे होने पर अगले 5 वर्ष के संधारण का काम भी बड़े पैमाने पर हाथ में लिया गया है। इस उद्देश्य से अब तक 10 हजार 300 किलोमीटर लम्बी सड़कों के अगले 5 वर्ष की अवधि तक के संधारण के लिये एजेंसी का निर्धारण कर संधारण का काम करवाया जा रहा है। इन कार्यों के अंतर्गत 4,617 किलोमीटर पुरानी सड़कों पर फिर से डामरीकरण का काम करवाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here