प्रदेश में वर्षा सामान्य स्थिति की ओर

भोपाल, जुलाई 2014/ प्रदेश में एक जून से 28 जुलाई तक 5 जिले में औसत से अधिक वर्षा, 18 में सामान्य, 26 में कम और 2 जिले में अल्प वर्षा दर्ज की गई है। प्रदेश के सभी बाँध और प्रमुख नदियों में जल-स्तर सामान्य है।

प्रदेश में सामान्य से 20 प्रतिशत अधिक वर्षा वाले 5 जिले बैतूल, बुरहानपुर, हरदा, खण्डवा और खरगोन है। सामान्य वर्षा में +19 से -19 प्रतिशत वर्षा वाले 18 जिले में राजगढ़, टीकमगढ़, बड़वानी, जबलपुर, भोपाल, मण्डला, होशंगाबाद, सीहोर, छिन्दवाड़ा, रायसेन, नरसिंहपुर, इंदौर, सिवनी, बालाघाट, रीवा, उज्जैन, कटनी और शिवपुरी शामिल हैं। कम वर्षा वाले -20 से -59 प्रतिशत वाले 26 जिले में विदिशा, दतिया, अनूपपुर, सागर, देवास, सीधी, अलीराजपुर, धार, गुना, शाजापुर, आगर-मालवा, अशोकनगर, झाबुआ, दमोह, सतना, डिण्डोरी, छतरपुर, श्योपुर, रतलाम, ग्वालियर, नीमच, मंदसौर, उमरिया, सिंगरोली, शहडोल और पन्ना सम्मिलित हैं। अल्प वर्षा वाले -60 प्रतिशत या उससे अधिक 2 जिले में भिण्ड और मुरैना शामिल हैं।

हरदा जिले में लगतार अति वर्षा के कारण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। जिले में चारों ओर सड़क मार्ग अवरूद्ध हो गये हैं। वर्तमान में लगातार वर्षा जारी है। ग्राम बैरागढ़, हरदा खुर्द, नीमगाँव, अवगाँव खुर्द, धनवाड़ा, तजपुरा, जतरा पड़ाव आदि स्थान पर बाढ़ में फँसे लोगों को राहत पहुँचाने में सड़क मार्ग अवरूद्ध होने से बाधा आ रही है। जिला कलेक्टर ने राहत कार्य के लिए राज्य शासन से हेलीकाप्टर की माँग की है। बाढ़ में फँसे लोगों के बचाव कार्य के लिए राष्ट्रीय आपदा बल की टुकड़ी भी भेजी गई है। जिले में किसी भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।

बुरहानपुर जिले में ताप्ती नदी का जल-स्तर 227 मीटर है। वर्तमान में बाढ़ की स्थिति नहीं है। जिला प्रशासन ने बाढ़ की स्थिति निर्मित होने की स्थिति में सतियारा घाट, राज घाट, खातू घाट, पीपल घाट, नया मोहल्ला, अख्तर कॉलोनी एवं नागझिरी क्षेत्र के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ठहराने की जगह चिन्हित की है। प्रदेश में कुल 17 जन-हानि, 6 पशु-हानि, 17 व्यक्ति के घायल होने की जानकारी मिली है। अति-वर्षा से प्रदेश में 287 मकान पूर्णत: नष्ट और 381 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here