प्रशासनिक सेवा जनसेवा का दुर्लभ अवसर: शिवराजसिंह

भोपाल, दिसंबर 2012/ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि प्रशासनिक सेवा देश और प्रदेश की बेहतरी के लिये काम करने का दुर्लभ अवसर है। कार्य करने का ऐसा अवसर बहुत कम लोगों को मिलता है। प्रदेश की जनता के भविष्य के लिये तड़प और ललक के साथ कार्य की जरूरत है। श्री चौहान यहाँ आर.सी.वी.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में मध्यप्रदेश आई.ए.एस. एसोसिएशन के सर्विस मीट 2012 के औपचारिक शुभारंभ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में प्रशासनिक अधिकारियों को दूरदृष्टि, नवाचार और युक्ति बुद्धि के साथ नेतृत्व करना है। उन्हें जनता, जन-प्रतिनिधि और जनसंचार के प्रतिनिधियों के साथ निरंतर जीवंत संवाद रखना चाहिये। निरंतर संवाद से कार्य का प्रभावी फीडबेक प्राप्त होता है। उन्होंने गीता के श्लोक के माध्यम से अधिकारियों को अच्छे प्रशासनिक अधिकारी के गुण बताए। उन्होंने कहा कि अच्छा अधिकारी निष्पक्ष, अहंकारमुक्त, धैर्यवान और सदैव उत्साह से भरा रहता है। सफलता, असफलता में समभाव रहता है। उन्होंने कहा कि कोशिश करने वाले की कभी हार नहीं होती।

श्री चौहान ने एसोसियेशन के पदाधिकारियों को आयोजन की बधाई दी। उन्होंने कहा कि मस्तिष्क को ऊर्जावान रखने के लिये व्यायाम, प्राणायाम और खेलों के लिये समय निकालना चाहिए। उन्होंने अपेक्षा की कि सर्विस मीट के बाद अधिकारी नए उत्साह और ऊर्जा के साथ कार्य करेंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री ने दीप जलाकर मीट का शुभारंभ किया।

मुख्य सचिव श्री आर. परशुराम ने कहा कि प्रशासनिक व्यवस्थाएँ निरंतर बदल रहीं है। प्रशासनिक सेवा का प्रारंभिक स्वरूप नियंत्रणात्मक था। उसके बाद वह विकास के नेतृत्व की जिम्मेदारी हो गई। वर्तमान समय में समुदाय, जन-प्रतिनिधि और संस्थाओं के साथ भागीदारी की चुनौती है जिसमें कुशल प्रबंधक और टीम प्लेयर के रूप में कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि भारतीय प्रशासनिक सेवा ऐसी सर्विस है जिसमें अनुभाग स्तर से केन्द्रीय स्तर तक नेतृत्व का भरपूर अवसर मिलता है।

कार्यक्रम के प्रारंभ में एसोसिएशन की अध्यक्ष श्रीमती अरूणा शर्मा ने स्वागत उद्बोधन दिया। उन्होंने सर्विस मीट के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि 14 से 16 दिसम्बर तक चलने वाली इस मीट में वैचारिक मंथन के साथ ही रोचक गतिविधियाँ, साहसिक, इन्डोर और आऊटडोर गेम्स और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन किए जायेंगे। आभार ज्ञापन एसोसिएशन के उपाध्यक्ष श्री अशोक वर्णवाल ने किया। संचालन श्री हरिरंजन राव ने किया। एसोसियेशन द्वारा मुख्यमंत्री को स्मृति-चिन्ह भी भेंट किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here