प्रशासनिक सेवा में सफलता के लिये बड़े लक्ष्‍य रखें

भोपाल, दिसंबर 2012/ पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम ने कहा है कि प्रशासनिक सेवा में सफलता के लिये दीर्घकालीन लक्ष्य का निर्धारण जरूरी है। उन्होंने कहा कि लक्ष्य निर्धारण से अधिकारी को समय-समय पर केरियर के प्रति प्रेरणा के साथ ही विभिन्न समस्याओं पर काबू पाने में मदद मिलेगी। डॉ. कलाम आज यहाँ आर.सी.व्ही.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में अखिल भारतीय एवं केन्द्रीय सेवा के अधिकारियों के 87वें आधारभूत प्रशिक्षण का समापन कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री श्री कन्हैयालाल अग्रवाल ने की।

पूर्व राष्ट्रपति डॉ. कलाम ने प्रशिक्षु अधिकारियों से कहा कि उन्हें अपनी निष्ठा की ब्राण्डिंग करना चाहिये। इससे कोई भी व्यक्ति अनैतिक कार्य करवाने के लिये उन्हें न तो एप्रोच करेगा और न ही दबाव बना पायेगा। डॉ. कलाम ने प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट स्थान पाने वाले प्रशिक्षु अधिकारियों को कप-मेडल एवं प्रशस्ति-पत्र प्रदान किये।

राज्य मंत्री श्री अग्रवाल ने प्रशिक्षु अधिकारियों का आव्हान किया कि वे देश-सेवा के साथ गरीब तबके को उनका हक दिलाने की पहल सतत करते रहें। अखिल भारतीय एवं केन्द्रीय सेवा के अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिये अकादमी में समुचित व्यवस्था राज्य सरकार ने की है।

प्रारंभ में अकादमी की महानिदेशक श्रीमती आभा अस्थाना ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने बतलाया कि अखिल भारतीय एवं केन्द्रीय सेवा के अधिकारियों के इस पन्द्रह सप्ताह के प्रशिक्षण में विभिन्न सेवाओं के 62 अधिकारी सम्मिलित हुए। अकादमी संचालक राकेश अग्रवाल ने कहा कि प्रशिक्षु अधिकारियों को प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न विषय एवं विधाओं की जानकारी देने के साथ ही फील्ड विजिट भी करवायी गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here