प्राथमिक सहकारी समितियाँ भी जुड़ेंगी कोर बैंकिंग से

भोपाल, सितंबर 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों को सशक्त बनाया जायेगा और उन्हें कोर बैंकिंग से जोड़ा जायेगा। वे भोपाल में अरेरा हिल्स पर विकास भवन-सह-ई-गवर्नेंस सेंटर के भूमि-पूजन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने समग्र सामाजिक सुरक्षा मिशन का लोकार्पण किया। मिशन में लगभग साढ़े 6 करोड़ नागरिकों का डाटा बेस तैयार किया जा चुका है। हितग्राहियों की जानकारी एक ही पोर्टल पर उपलब्ध रहेगी। इससे हितग्राहियों की आवश्यक जानकारी बार-बार तैयार करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। सामाजिक सुरक्षा के उद्देश्य से लागू की गई योजनाओं को एक साथ लाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है।

श्री चौहान ने हितग्राहियों को सीधा लाभ देने के लिये कोर बैंकिंग प्रणाली का भी लोकार्पण किया। इसके साथ नाबार्ड, टाटा कंसलटेंसी और सेंट्रल बैंक ऑफ इण्डिया के सहयोग से अपेक्स बैंक और जिला सहकारी बैंक की 852 शाखाएँ कोर बैंक से जुड़ गई हैं। जल्दी ही दूसरी बैंक भी जोड़ी जायेगी। मुख्यमंत्री ने कोर बैंकिंग की शुरूआत को क्रांतिकारी पहल बताते हुए कहा कि अगले पाँच साल में गाँवों में शहरों के समान सुविधाएँ मिलने लगेगी। उत्कृष्ट काम करने वाले अधिकारियों को हर साल सम्मानित किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने मर्यादा अभियान की त्रैमासिक पत्रिका का विमोचन किया। कोर बैंकिंग की व्यवस्था लागू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले बैंक अधिकारियों को सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here