भवन निर्माण कार्यों के लिये “पूल फण्ड” बनेगा

भोपाल, नवंबर 2012/ शासकीय विभागों के भवनों के निर्माण कार्यों को समय पर पूरा करने के लिये ‘पूल फण्ड’ स्थापित किया जायेगा। इस पूल फण्ड से ऐसे भवनों का निर्माण समय पर पूरा होगा, जो थोड़ी सी धनराशि के अभाव में अधूरे छूट जाते हैं।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने यहाँ मंत्रालय में लोक निर्माण विभाग के कार्यों और कार्य-योजना की विस्तार से समीक्षा में सभी शासकीय भवनों के रख-रखाव और मरम्मत कार्य पूरा करने के निर्देश दिये हैं। सड़कों की मरम्मत तेजी से प्रारंभ करने को कहा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विभाग द्वारा हाथ में लिये गये जो कार्य अभी भी प्रारंभ नहीं हुए हैं उनकी समीक्षा करें। इन कार्यों के लिये निर्धारित राशि का उपयोग ऐसे कार्यों में किया जा सकता है, जो निर्माणाधीन हैं और उनके लिये राशि कम पड़ सकती है। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं होगा। उन्होंने निर्माण कार्यों में लापरवाही बरतने वाले शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने और उत्कृष्ट कार्य करने वाले इंजीनियरिंग स्टाफ को सम्मानित करने के निर्देश दिये। प्रदेश से गुजरने वाले राष्ट्रीय राज्य मार्गों की मरम्मत और निर्माण के लिये आवश्यक धनराशि के लिये केन्द्र से आग्रह किया जायेगा।

बैठक में बताया गया कि परियोजना क्रियान्वयन इकाइयों की संख्या बढ़ाकर 29 कर दी गयी है ताकि निर्माण कार्य में तेजी आये। यह भी जानकारी दी गयी कि 19 विभाग के 2,921 कार्य लोक निर्माण विभाग द्वारा किये जा रहे हैं। कार्यों की लागत 2672 करोड़ रूपये है। मुख्यमंत्री ने निर्माण कार्यों को समय पर पूरा करने के लिये परियोजना प्रबंधन समय सारणी निर्धारित करने के निर्देश दिये ताकि विलम्ब की स्थिति में लागत राशि न बढ़े। मुख्यमंत्री ने विकास कार्यों की बड़ी संख्या को देखते हुए ठेकेदारों के लिये क्षमता निर्माण कार्यक्रम बनाने पर विचार करने को कहा।

बैठक में जानकारी दी गई कि ई-मेजरमेंट इन्ट्रानेट प्रायोगिक तौर पर शुरू कर दिया गया है। इससे विभिन्न चरणों में सड़कों के निर्माण और गुणवत्ता और स्थिति की जानकारी प्राप्त हो सकती है। साथ ही मैदानी स्तर पर इंजीनियरिंग अमले की उपस्थिति और कार्य क्षमता का भी आकलन इससे हो सकेगा। ई-मेजरमेंट की इस व्यवस्था को दूसरे चरण में ई-पेमेंट से जोड़ दिया जायेगा। करीब 6 हजार किलोमीटर सड़कों का नवीनीकरण अगले जून माह तक कर दिया जायेगा। राज्य द्वारा राष्ट्रीय राज्य मार्गों का संधारण करते हुए 186 किलो मीटर मार्ग का नवीनीकरण और 575 किलो मीटर का पेंच मरम्मत का कार्य किया गया है। अगले साल 429 किलो मीटर राष्ट्रीय राज्य मार्गों का नवीनीकरण और मरम्मत की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here