भारत के पुनर्निर्माण का बजट: मुख्यमंत्री

भोपाल, जुलाई 2014/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केन्द्रीय बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उसे आधुनिक भारत के पुनर्निर्माण का बजट बताया। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने जो घाव दिये थे, यह उन पर मरहम लगाने का प्रयास है।

श्री चौहान ने कहा कि यह बजट शक्तिशाली, समृद्धशाली, गौरवशाली भारत की आधारशिला रखने वाला बजट है। चाहे आंतरिक सुरक्षा का क्षेत्र हो अथवा शहरी-ग्रामीण विकास या अधोसंरचना का निर्माण, हर तरफ ध्यान दिया गया है। बजट में किसानों, गरीबों का खास ख्याल रखा गया है।

इस बजट से माताओं, बेटियों की जिन्दगी में नया सवेरा लाने की शुरूआत हुई है। इसके दूरगामी परिणाम मिलेंगे।

इससे अच्छा बजट संभव नहीं

ऊर्जा एवं जनसम्पर्क मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि वर्तमान स्थिति में इससे अच्छा बजट देना संभव नहीं था। बजट में सभी वर्गों के हितों का ध्यान रखते हुए बिगड़ी हुई अर्थ-व्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के दूरगामी उपाय किये गये हैं। वास्तव में यह बजट आने वाले चार वर्ष में भारत के बड़ी आर्थिक शक्ति के रूप में उभरने का मार्ग प्रशस्त करता है।

संतुलित और साहसिक बजट

महिला-बाल विकास मंत्री माया सिंह ने केन्द्रीय बजट का स्वागत करते हुए कहा कि इस सर्व-स्पर्शी बजट में समाज का हर वर्ग लाभान्वित हुआ है। महिलाओं की सुरक्षा के लिये पहली बार बजट में चिंता दिखलाई दी है। बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ योजना में 100 करोड़ का प्रावधान और स्कूली पाठ्यक्रम में महिला-पुरुष के भेदभाव खत्म करने के लिये विशेष अध्याय जोड़ने का निर्णय सराहनीय है। उन्होंने बजट में महँगाई कम करने के लिये की गई व्यवस्थाओं को सरकार की दृढ़ इच्छा-शक्ति का प्रतीक बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here