भोपाल को गुलाब हब बनाया जाये: गौर

भोपाल, जनवरी 2013/ नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री बाबूलाल गौर ने गुलाब उद्यान में 32वीं अखिल भारतीय गुलाब प्रदर्शनी के समापन अवसर पर कहा कि भोपाल को ‘गुलाब हब’ बनाया जाये। गुलाब संस्कृति और सौन्दर्य का प्रतीक एक ऐसा फूल है, जो सभी के दिलों पर राज करता है। बहुत सारे फूलों के समूह से यदि कोई एक फूल अपनी पसंद का चुनना हो तो वह गुलाब का फूल होगा। गुलाब ही एक ऐसा फूल है जो एक हजार से ज्यादा किस्मों में मिलता है और सभी किस्में एक-दूसरे से रंग, आकार, खुशबू में भिन्न होते हैं।

श्री गौर ने कहा कि गुलाब ने अपनी गंध और रंग से विश्व काव्य को अपना माधुर्य और सौंदर्य प्रदान किया है। यह जन-सामान्य को प्रकृति के निकट भी लाते हैं। उद्यानिकी के क्षेत्र में गुलाब के पुष्पों ने व्यापारिक महत्व स्थापित कर लिया है। गुलाब की व्यावसायिक खेती को बढ़ावा देने में गुलाब प्रदर्शनी जैसे आयोजन सहायक होंगे। श्री गौर ने स्मारिका का विमोचन भी किया।

उद्यानिकी एवं प्रक्षेत्र वानिकी के आयुक्त-सह-संचालक अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदर्शनी ने गुलाब-प्रेमी जनता को न सिर्फ एक अनूठी छटा को देखने का मौका दिया बल्कि इससे गुलाब से संबंधित जानकारी और उसे उगाने की प्रेरणा भी लोगों को मिली। उन्होंने मध्यप्रदेश रोज सोसायटी भोपाल को इस कार्य के लिए साधुवाद दिया।

इस अवसर पर किंग/राजा गुलाब की ट्राफी श्री नीरज गोयल, क्वीन/रानी गुलाब ट्राफी एन्ड्रीज हाइड्रो को प्रदान की गई। इसी प्रकार चेम्पियनशिप संस्थागत राजभवन ट्राफी राजधानी परियोजना को, चेम्पियनशिप व्यक्तिगत मध्यप्रदेश पुलिस ट्राफी श्रीमती अमृता इंदिरा गोयल को दी गई। मध्यप्रदेश रोज सोसायटी के अध्यक्ष सुशील प्रकाश ने स्वागत भाषण दिया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में गुलाब प्रेमी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here