मध्यप्रदेश को बनाएंगे प्रमुख पर्यटन केन्द्र

भोपाल, मार्च 2015/ मध्यप्रदेश को देश का प्रमुख पर्यटन केन्द्र बनाया जायेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिये हैं कि मध्यप्रदेश के पर्यटन की दुनिया में पहचान बनाने के लिये अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का उत्सव आयोजित किया जाये। भोपाल में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का कन्वेशन सेंटर बनाया जाय। जिन देशों में भारतीय मूल के निवासी हैं उन देशों में सिंहस्थ आयोजन का प्रमोशन किया जाये। मुख्यमंत्री यहाँ पर्यटन वर्ष की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। बताया गया कि पर्यटन वर्ष का तीन दिवसीय उदघाटन समारोह भोपाल में अगले माह आयोजित किया जायेगा।

बैठक में श्री चौहान ने पर्यटन वर्ष में किये जाने वाले विभिन्न आयोजनों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय उत्सव हर वर्ष निर्धारित तिथियों में आयोजित किया जाय। इसमें देशभर से विशिष्ट अतिथियों को बुलाया जाय। इसमें संस्कृति और पर्यटन विभाग का सहयोग लिया जाय। प्रदेश के स्थापना दिवस एक नवम्बर को पर्यटन पर केन्द्रित आयोजन हों।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि वन विहार भोपाल में नाईट सफारी शुरू की जाय। प्रसिद्ध पर्यटन-स्थल साँची में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ऐसा कार्यक्रम आयोजित करे, जिसमें विश्व भर से बौद्धधर्मी आयें। पर्यटन विभाग नर्मदा परिक्रमा का पेकेज टूर बनाकर प्रचारित करे। इसमें अलग-अलग पेकेज बनाये जाये। इंदिरा सागर में आयलेंड टूरिज्म विकसित किया जाय।

बताया गया कि पर्यटन वर्ष के दौरान प्रदेश के बड़े शहरों तथा पर्यटन-स्थलों पर विभिन्न कार्यक्रम किये जायेंगे। उदघाटन समारोह के दौरान आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम, संगोष्ठी, प्रदेश के क्षेत्रवार प्रचलित प्रमुख व्यंजनों का उत्सव आदि विविध कार्यक्रम किये जायेंगे। समारोह के दौरान सिंहस्थ पर केन्द्रित फिल्म प्रदर्शन तथा फोटो प्रदर्शनी लगायी जायेगी। पर्यटन विकास निगम द्वारा प्रदेश के पर्यटन पर केन्द्रित काफी टेबल बुक बनायी जा रही है। इसके अलावा राष्ट्रीय स्तर का क्विज काम्पीटिशन आयोजित किया जायेगा। इसी दिन पर्यटन पर केन्द्रित सोशल मीडिया केम्पेन शुरू किया जायेगा। प्रदेश के इतिहास पर व्याख्यानमाला होगी। आगामी 24 मई को मध्यप्रदेश पर्यटन दिवस पर राज्य स्तरीय पर्यटन पुरस्कार देने के साथ ही विभिन्न कार्यक्रम किये जायेंगे। पचमढ़ी में योग उत्सव होगा। पर्यटन वर्ष के दौरान दिल्ली, लखनऊ, कलकत्ता, बैंगलुरू और हैदराबाद सहित देश के बड़े शहरों में रोड शो किये जायेंगे।

बैठक में बताया गया कि भोपाल के मिन्टो हॉल और ताजमहल पैलेस को विकसित करने की परियोजना बनाई गई है। पर्यटन विकास निगम द्वारा प्रदेश में 22 मार्ग सुविधाएँ विकसित की जा रही हैं। सिंहस्थ की देश-विदेश में ब्रांडिंग की जायेगी। प्रदेश के पर्यटन स्थलों को जोड़ने वाली वायुसेवा आगामी एक जून से शुरू हो जायेगी। पर्यटन विकास निगम द्वारा इन्वेस्टर गाइड टू टूरिज्म बनाई जा रही है।

बैठक में मुख्य सचिव अन्‍टोनी डिसा, मुख्यमंत्री के सचिव हरिरंजन राव और पर्यटन विकास निगम के प्रबंध संचालक अश्विनी लोहानी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here