मध्यप्रदेश को बनाने में युवा योगदान दें: मुख्‍यमंत्री

भोपाल, दिसंबर 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि युवाओं के भविष्य की राह में कोई अनिश्चितता नहीं रहने देंगे। युवा मध्यप्रदेश को बनाने में योगदान दें। सरकार चलाने में पूरे समाज की भागीदारी रहेगी। मुख्यमंत्री यहाँ एम.एल.बी. महाविद्यालय में युवा संवाद कार्यक्रम में युवाओं को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले पाँच साल में मध्यप्रदेश को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लक्ष्य को सबके सहयोग से हासिल किया जायेगा। आम जनता की जिन्दगी में सकारात्मक बदलाव लाने के लिये राज्य सरकार कार्य करेगी। मध्यप्रदेश में धन के अभाव में कोई युवा प्रतिभा कुंठित नहीं होगी। प्रतिभाशाली युवा प्रदेश को बदलने में योगदान करें।

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में ऐसे शिक्षण संस्थान बनाये जायेंगे, जिनका नाम पूरे देश में होगा। उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के प्रयास लगातार जारी रहेंगे। युवाओं के लिये रोजगार के अवसर बढ़ाये जायेंगे। इसके लिये प्रदेश में निवेश को प्रोत्साहित किया जायेगा। लघु और कुटीर उद्योगों का जाल मध्यप्रदेश में बिछाने में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। युवा नौकरी माँगने वाले नहीं बल्कि नौकरी देने वाले बनें। युवाओं के लिये मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना शुरू की गयी है। मध्यप्रदेश की धरती से बड़े उद्यमी तैयार हों। उन्होंने कहा कि युवा एक उद्देश्यपूर्ण जीवन जियें और जागरूक नागरिक बनें। बेटी बचाओ अभियान के माध्यम से समाज की मानसिकता बदलने का अभियान लगातार जारी रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा उन्हें सोशल मीडिया पर या लिखकर भी सुझाव दे सकते हैं।

कार्यक्रम में युवाओं ने महत्वपूर्ण सुझाव दिये। इनमें प्रमुख रूप से सेमिस्टर व्यवस्था सुधारने, उच्च शिक्षा ऋण गारंटी योजना का सरलीकरण करने, बाल श्रम पर रोक लगाने, सरकारी महाविद्यालयों में प्राध्यापकों के पदों की पूर्ति करने, गाँव की बेटी योजना स्नातकोत्तर कक्षाओं के लिये लागू करने, बेरोजगारी भत्ता देने, छात्रावासों की स्थिति में सुधार आदि सुझाव दिये गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here