मध्यप्रदेश में सुविधाओं से निवेशक प्रभावित हुए

भोपाल, अगस्त  2014/ निवेशकों ने मध्यप्रदेश में भूमि उपलब्धता, विद्युत प्रदाय व्यवस्था और सड़क नेटवर्क में सुधार की प्रशंसा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को निवेश प्रस्ताव दिये। बैंगलुरू में निवेशकों और उद्योगपतियों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में औद्योगिक निवेश के लिये सर्वाधिक अनूकूल वातावरण और निवेशकों के लिये सर्वोत्तम सुविधाएं हैं। राज्य शासन की ओर से उद्योग मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया,  मुख्यसचिव अन्टोनी डिसा व अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मनीपाल समूह के चेयरमैन सुधाकर पाई ने अपनी कंपनी के विस्तार की कार्ययोजना बताते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में अनूकूल वातावरण को देखते हुए इसे निवेश प्राथमिकता में रखा गया है। इसके अलावा प्रतिष्ठित आर.वी. कालेज आफ इंजीनियरिंग, रूरल शोर्स, एआरएम इंडिया, सुरिन आटोमेटिव के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री से निवेश प्रस्तावों पर चर्चा की।

सुरीन आटोमेटिव ने इंदौर में अपनी निर्माण इकाई लगाने की इच्छा व्यक्त की । इसके संयुक्त प्रबंधक अमन चौधरी ने कहा कि प्रदेश में बीआरटीएस, बिजली प्रदाय और भूमि की उपलब्धता एवं अन्य प्रशासकीय औपचारिकताएं सरल होने से निवेश का वातावरण सभी निवेशकों के अनुकूल हो गया है।

गाँव के युवाओं को रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण देकर बड़े कारपोरेट घरानों के कामों को प्रशिक्षित युवाओं से कराने में देश में पहल करने वाली संस्था रूरल शोर्स प्रदेश के हर जिले के एक गांव में अपनी प्रशिक्षण इकाई स्थापित करना चाहती है। इसके प्रमुख नीरज अग्रवाल ने बताया कि छिन्दवाड़ा के चांद और सौंसर में ऐसे प्रशिक्षण केन्द्र चल रहे हैं और एयरटेल जैसी कंपनियों के काम यहां के प्रशिक्षित युवा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने संस्था को सभी जिलों में इसकी संभावनाएं तलाशने के लिये आमंत्रित किया। बायोकान लिमिटेड की डॉ. किरण मजूमदार और फर्स्ट अमेरिकन प्राइवेट लिमिटेड के उपाध्यक्ष गिरधर राजगोपाल ने भी श्री चौहान से निवेश प्रस्तावों पर चर्चा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here