मध्यप्रदेश रचेगा विश्व कीर्तिमान

भोपाल, अक्टूबर 2014/ विश्व हाथ धुलाई दिवस-15 अक्टूबर को मध्यप्रदेश की 19 हजार 735 शालाओं में होने वाले वृहद हाथ धुलाई कार्यक्रम में 20 लाख स्कूली बच्चे एक साथ भागीदारी कर नया विश्व कीर्तिमान रचेंगें। गिनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकार्ड में अब तक 7.50 लाख स्कूली बच्चों के द्वारा एकसाथ हाथ धुलाई कार्यक्रम में भाग लेने का रेकार्ड दर्ज है।

स्वच्छ मध्यप्रदेश अभियान में तकनीकी योगदान कर रही संस्था एम पी टास्ट की वॉश परियोजना द्वारा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के साथ संयुक्त रूप से आयोजित मीडिया संवाद कार्यक्रम में आज यह जानकारी दी गई। राज्य कार्यक्रम अधिकारी राज्य जल एवं स्वच्छता मिशन श्रीमती हेमवती वर्मन ने स्वच्छ भारत अभियान में चल रही राज्य स्तरीय गतिविधियों की जानकारी देते हुए आग्रह किया कि स्वच्छता के मुद्दे पर जन-जागरूकता लाने में व्यापक योगदान दें। अभियान में 25 सितंबर से 19 नवंबर 2014 तक विभिन्न रचनात्मक आयोजन हो रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सहित सभी मंत्री, जन-प्रतिनिधि तथा अधिकारी और कर्मचारी भी समय-समय पर विभिन्न आयोजन में भागीदारी कर जन-मानस को स्वच्छता की प्रेरणा दे रहे हैं।

मीडिया संवाद में विभिन्न समाचार-पत्रों तथा चेनलों के प्रतिनिधियों ने स्वच्छ भारत तथा स्वच्छ मध्यप्रदेश अभियान की सफलता के लिये महत्वपूर्ण सुझाव दिये। इससे पहले एमपी टास्ट के टीम लीडर डॉ. एस कृष्णास्वामी, ब्रिटिश सरकार के अंर्तराष्ट्रीय विकास विभाग (डीएफआईडी) के राज्य प्रतिनिधि श्री संजय शर्मा और संयुक्त आयुक्त, विकास आयुक्त कार्यालय श्री देवेन्द्र जोशी ने स्वच्छ मध्यप्रदेश अभियान के संबध में महत्वपूर्ण विचारों, तथ्यों और संदर्भों को मीडिया प्रतिनिधियों के साथ साझा किया। इस अवसर पर स्वच्छ भारत तथा स्वच्छ मध्यप्रदेश पर केन्द्रित वीडियो प्रजेन्टेशन भी हुआ । राज्य शिक्षा केन्द्र के श्री अमिताभ अनुरागी ने जानकारी दी कि प्रदेश की सभी शालाओं में शौचालय तथा हेण्ड वाशिंग प्लेटफार्म बनाये जा रहे हैं। सभी शालाओं में जहॉ मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम संचालित है वहॉ बच्चों को हाथ धोने के लिये साबुन, तौलिया और हेण्ड वॉशिंग यूनिट मुहैया करवाई गई है।

उल्लेखनीय है कि विश्व हाथ धुलाई दिवस पर मध्यप्रदेश की सभी 1 लाख 14 हजार प्राथामिक और माध्यमिक शाला में प्रातः 11 से दोपहर 12 बजे तक साबुन से हाथ धुलाई का कार्यक्रम होगा। इसमें भागीदारी के लिये अब तक करीब 35 लाख स्कूली बच्चों का पंजीयन हो चुका है। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकार्ड के सत्यापन के संबध में इनमें से चयनित 19 हजार 735 स्कूल में वीडियो केमरा तथा मोबाइल फोन केमरों के द्वारा इस आयोजन का फिल्मांकन किया जायेगा। प्रत्येक स्कूल में 50-50 के समूह में हाथ धुलाई का प्रदर्शन करेंगें। प्रमाण के लिये इन सभी बच्चों के नाम लॉग शीट पर दर्ज कर उन्हें रिस्ट बेंड प्रदान किये जायेगे। शाम 5 बजे तक सभी स्कूलों से एसएमएस के जरिये आयोजन में शामिल होने वाले स्कूली बच्चों का प्रमाणित व्यौरा संकलित कर भेज दिया जायेगा। आयोजन में 80 हजार से अधिक शिक्षक तथा पंचायत प्रतिनिधियों को प्रशिक्षित कर आवश्यक जिम्मेदारियॉ सौंपी गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here