मध्‍प्रदेश में निवेश की अपार संभवनाएं

 भोपाल, अगस्त 2014/ वाणिज्य, उद्योग तथा रोजगार मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने मुंबई के शीर्षस्थ उद्योगपतियों को व्यक्तिगत रूप से अक्टूबर में इंदौर में होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में आने के लिये आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में विभिन्न क्षेत्र में निवेश के लिये अपार संभावनाएँ हैं। मध्यप्रदेश शासन इस संबंध में हरसंभव सहायता के लिये तैयार है। प्रदेश में उद्योग स्थापित करने के लिये शांतिपूर्ण वातावरण के साथ शासकीय सहयोग भी उपलब्ध है, जो किसी भी नवीन उद्योग स्थापना के लिये आवश्यक होता है।

श्रीमती सिंधिया ने लार्सन एंड ट्रूबो के कार्यपालक अध्यक्ष ए.एम. नाईक से उनके कार्यालय में जाकर भेंट की। श्री नाईक ने कम्पनी की विभिन्न इकाई के बारे में जानकारी दी। उन्होंने पब्लिक-प्रायवेट पार्टनरशिप में कार्य करने की रूचि दिखाई। श्रीमती सिंधिया द्वारा ग्वालियर में 104 एकड़ भूमि उपलब्ध होने की जानकारी देते हुए कम्पनी को प्रदेश में सुरक्षा कलपुर्जों का कारखाना लगाने का आमंत्रण दिया गया।

श्रीमती सिंधिया बीएलए इंडस्ट्रीज प्रा.लि. के प्रबंध संचालक अनूप अग्रवाल तथा उपाध्यक्ष हर्ष डुग्गर से भी मिली। उन्होंने वॉक्सवेगन के अध्यक्ष तथा प्रबंध संचालक महेश कोडूमुड़ी तथा मुख्य महाप्रबंधक पंकज गुप्ता के साथ कंपनी के मध्यप्रदेश में निवेश के बारे में चर्चा की।

उद्योग मंत्री ने महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के अध्यक्ष तथा प्रबंध संचालक आनंद महिन्द्रा से भी भेंट की। श्री महिन्द्रा ने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा बिजलीचलित कारों पर न्यूनतम कर लगाये जाने की बात कहते हुए प्रदेश में बिजलीचलित कार ‘रेवा’ के निर्माण की इच्छा प्रकट की। श्री महिन्द्रा ने लघु लागत गृह निर्माण योजना द्वारा मध्यप्रदेश के पीथमपुर तथा अन्य औद्योगिक क्षेत्र में निर्माण में रूचि दिखाई। साथ ही उन्होंने उल्लेख किया कि यदि मध्यप्रदेश शासन एकल खिड़की के माध्यम से उनके प्रस्तावों को अधिकतम 30 दिन के अंदर स्वीकृति देता है तो वे पीपीपी में मध्यप्रदेश में लघु लागत के गृह निर्माण शुरू करना चाहेंगे। वे मध्यप्रदेश शासन को स्मार्ट सिटी निर्माण में भी सहयोग करना चाहेंगे। श्री महिन्द्रा ने सुरक्षा के क्षेत्र में एरोस्पेस तथा उड्डयन के क्षेत्र में भी निवेश में रूचि व्यक्त की। उन्होंने सौर तथा पवन ऊर्जा से संबद्ध उद्योग स्थापना की भी इच्छा व्यक्त की।

श्रीमती सिंधिया ने कनाडा के वाणिज्यिक दूत रिचर्ड बेल तथा क्यूबेक के संचालक एवं वाणिज्यिक दूत श्री आलेन ऑलीवियर से भेंट की। श्री बेल एवं श्री ऑलीवियर ने भारत में निवेश की इच्छा जताते हुए श्रीमती सिंधिया को अपने प्रतिनिधि-मंडल के साथ कनाडा तथा क्यूबेक के उद्योपतियों से मिलने के लिये आमंत्रित किया।

उद्योग मंत्री ने केडबरी के अध्यक्ष श्री मनु आनंद, एस एल ग्रुप के अध्यक्ष श्री सुभाषचन्द्र, मान इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष श्री रमेश मनसुखानी से भी भेंट की। साथ ही सिटी इंडिया के मुख्य कार्यकारी श्री प्रमीत झवेरी, ड्यूसेच बेंक के मुख्य कार्यकारी श्री रवणीत सिंह गिल, एक्सेस बेंक की प्रबंध संचालक सुश्री शिखा शर्मा, आईसीआईसीआई सिक्युरिटी लि. के प्रबंध संचालक श्री अनूप बागची, पीरामल ग्रुप की उपाध्यक्ष डॉ. स्वाति पीरामल, कोटक महिन्द्रा के उपाध्यक्ष श्री उदय कोटक, रहेजा ग्रुप के संचालक श्री अक्षय रहेजा, डीएसपी ब्लेक रॉक इन्वेस्टमेंट प्रा.लि. के अध्यक्ष हेमंत कोठारी, टाटा संस के बिजनेस डेव्हलपमेंट प्रमुख श्री मधुकानन तथा श्री राहुल गोस्वामी से भी मध्यप्रदेश में संभावित निवेशों के संबंध में विस्तार से चर्चा कर इंदौर में अक्टूबर में होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में भाग लेने के लिये आमंत्रित किया। उद्योग मंत्री ने राज्य शासन द्वारा क्रियान्वित ‘स्व-रोजगार योजना’ की जानकारी दी। उन्होंने योजना को अधिकाधिक सफल बनाने के लिये योजना के लाभार्थियों को प्रशिक्षण तथा मार्गदर्शन देने के लिये भी उद्योगपतियों से कहा।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव उद्योग मोहम्मद सुलेमान, उद्योग आयुक्त बी.एल. कांताराव, मध्यप्रदेश ट्रायफेक के प्रबंध संचालक अरूण कुमार भट्ट तथा सीआईआई के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here