महाकाल भस्म आरती का ऑनलाइन आरक्षण

उज्‍जैन, जनवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मकर संक्रांति के अवसर पर उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों के सुविधा के लिये भस्म आरती आनलाईन आरक्षण का शुभारंभ किया। भस्म आरती आनलाईन बुकिंग से कहीं से भी एक माह पूर्व भी भस्म आरती के लिये आनलाईन बुकिंग की जा सकेगी। महाकालेश्वर मंदिर की वेबसाइट www.mahakleshwar.nic.in/.org.in  पर जाकर क्लिक कर महाकालेश्वर मंदिर के वेब पेज पर लाईव दर्शन के साथ भस्म आरती की बुकिंग की जा सकेगी। यह सुविधा नि:शुल्क है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अपने निवास पर महाकाल के लाइव दर्शन देख प्रसन्नता जाहिर की और कहा उत्तरायण के साथ महाकाल के घर बैठे दर्शन होना परम सौभाग्य है। बताया गया कि मंदिर के व्यवस्थाओं के कम्प्यूटराईजेशन के अंतर्गत भविष्य में धर्मशाला बुकिंग, अभिषेक, पूजन बुकिंग और आनलाईन डोनेशन इत्यादि सुविधाएँ आनलाईन की जायेगी। मंदिर की ऑनलाइन बुकिंग और कम्प्यूटराईजेशन एन.आई.जी. उज्जैन द्वारा तैयार किया गया है।

देवस्थानों की डायरेक्ट्री का विमोचन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मकर संक्राति के अवसर पर उज्जैन संभाग के शासन नियंत्रित देवस्थानों के अद्यतन स्थिति दर्शाने वाली डायरेक्ट्री का भी विमोचन किया। इस डायरेक्ट्री में शासन नियंत्रित देवस्थानों का सम्पूर्ण विवरण, मंदिर की समस्त सम्पत्ति का सम्पूर्ण विवरण दिया गया है। डायरेक्ट्री में मंदिर के संधारण और संचालन के लिये शासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों को उल्लेखित किया गया है। मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना को भी डायरेक्ट्री में स्थान दिया गया है। संभाग की डायरेक्ट्री जिला आधार पर बनाई गई है जिसमें प्रत्येक जिले के मंदिरों का उल्लेख किया गया है। उज्जैन संभाग में शासन नियंत्रित देवस्थानों की संख्या 10,579 है एवं उनसे लगी कृषि भूमि 25,266.5 हेक्टेयर है जो प्रदेश में सर्वाधिक है। संभागायुक्त ने बताया कि उज्जैन संभाग की वेबसाईट commujjain@mp.nic.in एवं संबंधित जिले के कलेक्टरों के वेबसाईट पर भी देवस्थान एवं मंदिरों से संबंधित सम्पूर्ण विवरण उपलब्ध है। 

जीर्णोद्धार कार्यों का शुभारंभ

मकर संक्रांति के अवसर पर श्री चौहान द्वारा संभाग के विभिन्न मंदिरों के जीर्णोद्धार कार्यों का शुभारंभ किया गया। विभिन्न मंदिरों के लिये 40 करोड़ से अधिक के मास्टर प्लान तैयार किया गया है। इसके प्रथम चरण में लगभग 11 करोड़ रूपये की राशि व्यय की जायेगी। इसके अंतर्गत महाकाल मंदिर उज्जैन स्थिति मंदिर हाल का विस्तारीकरण जिससे कि भस्म आरती में डेढ़ हजार से अधिक दर्शनार्थी शामिल हो सकेंगे। इसी के साथ उज्जैन स्थित चिन्तामन गणेश मंदिर, हरसिद्धी मंदिर, मंगलनाथ मंदिर, कालभैरव मंदिर, सिद्धबट मंदिर, 84 महादेव एवं सांदिपनी आश्रम के विकास एवं उन्नयन के कार्ययोजनाओं का मास्टर प्लान तैयार किया गया है। नीमच स्थित श्री महामाया भादवा माता मंदिर के विकास और उन्नयन की कार्ययोजना का मास्टर प्लान भी तैयार किया गया है। इनके कार्य जल्द शुरू किये जायेंगे।

इस अवसर पर जनसंपर्क एवं धर्मस्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा भी उपस्थित थे। उन्होंने भी इस कार्य के लिये सभी को शुभकामनाएं दी। संभागायुक्त अरूण पांडे ने मुख्यमंत्री को योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी और बताया कि सभी कार्य जल्द से जल्द शुरू किये जायेंगे। कार्यक्रम में जनसंपर्क आयुक्त राकेश श्रीवास्तव भी उपस्थित थे। उज्जैन कलेक्टर बी.एम. शर्मा ने महाकाल मंदिर भस्म आरती आनलाईन आरक्षण के संबंध में जानकारी दी। इस अवसर पर पुजारी प्रदीप गुरू ने मंत्रोच्चारों के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ कराया।

1 COMMENT

  1. C.m help line पर सीकयात की पर कोइ निराकरर्ण नही नीकला सीकयात नं.767935जो पहली सीकायत है !सीकयत नं.796847जो दूसरी सीकयत है कोइ हल नही निकला! बलकी अत्मघती हामला का समना किया ओर आज अस्पातल मे हू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here