महिलाओं को शौर्य शस्त्र दिये जाऐंगे

भोपाल, अक्टूबर 2014/ गृह एवं जेल मंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि प्रदेश की साहसिक महिलाओं को सम्मान के तौर पर शौर्य शस्त्र दिये जाने की योजना को जल्दी शुरू किया जायेगा। श्री गौर ने मिसरोद स्थित दानिश नगर में साहसी महिला श्रीमती एकता श्रीवास्तव को बधाई देने के दौरान चर्चा में इस नई योजना का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि महिलाएँ साहस और वीरता का परिचय देकर ऐसे कार्य कर रही हैं जो दूसरों के लिये प्रेरणा हैं। इस मुहिम को आगे बढ़ाने के लिये पुलिस विभाग इनको सम्मानित करेगा। साहस और वीरता का सम्मान के तौर पर उन्हें शौर्य शस्त्र जो कि कटारनुमा हो सकता है, दिया जायेगा। यह शौर्य शस्त्र ऐसी सभी महिलाओं को देने की परंपरा रहेगी, जो वीरता और शौर्य का कार्य करेगी। इस योजना को शुरू करने के लिये विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये गये।

श्री गौर ने दानिश नगर की रहवासी श्रीमती एकता श्रीवास्तव ने पिछले दिनों उनके साथ एक लुटेरे द्वारा लूट करने के प्रयास को ना केवल असफल कर दिया बल्कि लुटेरों को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। दुर्गावाहिनी देवास जिले की संयोजक रही एकता श्रीवास्तव ने कहा कि उन्हें दुर्गावाहिनी से साहस और आत्म-सुरक्षा के संस्कार मिले हैं। श्रीमती श्रीवास्तव ने कहा कि दुर्गावाहिनी में उन्होंने जो सीखा और उनका जो आत्म-बल बढ़ा उसी से वह एक अपराधी को लूट करने से रोक सकी और उसे पकड़वा सकी। श्री गौर ने कहा कि पुलिस विभाग ऐसी साहसी महिलाओं पर केन्द्रित एक पत्रिका का प्रकाशन कर रहा है। पत्रिका में इनके द्वारा दिखाई गयी वीरता और साहस के वारे में लिखा जायेगा। इनके शौर्य को लोग स्वीकार करें और दूसरे इनसे प्रेरणा लें इसी को ध्यान में रखते हुए शौर्य शस्त्र देने की योजना शुरू की जा रही है। ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here