इंदौर, नवंबर 2012/ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने इंदौर में क्षिप्रा टेकरी के समीप एक गरिमामय समारोह में निराश्रित वृद्धजन को भोजन देने की जिला प्रशासन की अन्न-पात्र योजना का शुभारंभ किया। योजना में निराश्रित वृद्धजन को एक समय का भोजन निःशुल्क उपलब्ध करवाया जायेगा। निराश्रित वृद्धजन को भोजन देने के लिये मुख्यमंत्री ने भोपाल में वृद्धजन पंचायत में घोषणा की थी। इंदौर जिले में शुरू हुई योजना प्रदेश में अपने तरह की पहली और अनूठी है।

मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि शासकीय अस्पतालों में शुरू होने वाली सरदार पटेल निःशुल्क दवा वितरण योजना में बुजुर्गों के लिये अलग से विशेष व्यवस्था रहेगी। उन्हें शासकीय अस्पतालों में सबके साथ कतार में खड़ा नहीं होना पड़ेगा। बुजुर्गों को भोजन देने की योजना सराहनीय है। वृद्धों के कारण ही हमारा अस्तित्व है। उनके अधिकारों की रक्षा की जायेगी। हमारी मंशा है कि उन्हें किसी भी तरह की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़े। बच्चे उनकी देखरेख करें। वृद्धों की देखरेख तथा भरण-पोषण नहीं करने वाले बच्चों के लिये भरण-पोषण अधिनियम के अंतर्गत सजा का प्रावधान किया गया है।