मुख्यमंत्री ने फिर लिखा केन्द्रीय मंत्री को खत

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने केन्द्रीय खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्य मंत्री प्रो. के.वी. थामस से मध्यप्रदेश को बारदाने की पाँच हजार गठानों की रैक प्रतिदिन उपलब्ध करवाने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा है प्रदेश की शेष निर्धारित गठानें 20 मई की जगह 15 मई तक उपलब्ध करवायी जायं।

श्री चौहान ने इस संबंध में प्रो. थामस को  पुन: पत्र भेजा है। उन्होंने मंडीदीप तथा विक्रम नगर भेजे गये जूट बारदाने के दो रैक प्राप्त होने पर धन्यवाद देते हुए आशा व्यक्त की है कि  इटारसी में भी बारदाने की एक और खेप मिल जायेगी। इसे मिलाकर प्रदेश को 30 अप्रैल तक 14 हजार गठानें प्राप्त हो जायेंगी। उन्होंने कहा है कि मंडीदीप तथा सागर के लिये बारदानों के दो और रैक लोड किये जाने के लिये कहा गया है पर अभी तक यह नहीं बताया गया कि वास्तव में यह रैक कब तक रवाना होंगे।

श्री चौहान ने केन्द्रीय खाद्य राज्य मंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि आपने 28 अप्रैल को भेजे अपने पत्र में 5 मई तक बारदाने की 46 हजार गठानें भेजने का वायदा किया है। प्रदेश को मिली 14 हजार गठानों के पश्चात यदि प्रदेश को शेष 32 हजार गठानें अगले छह दिनों के भीतर भेजी जाती हैं तो कम से कम एक रैक प्रतिदिन भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित करना होगी।

5 मई तक मिलना है

– 46000 गठानें

30 अप्रैल तक मिलेंगी

– 14000 गठानें

5 मई तक शेष मिलना है

– 32000 गठानें

20 मई तक अतिरिक्त मिलना है (इन्हें 15 मई तक भेजने का आग्रह)

– 50,000 गठानें

इस तरह 5 मई से 15 मई तक 10 दिन में चाहिये

– 50,000 गठानें

प्रतिदिन 5000 गठान की एक रैक चाहिए

श्री चौहान ने बारदाने की शेष 50 हजार गठानें 20 मई तक भेजे जाने की श्री थामस द्वारा दी गयी जानकारी के बारे में लिखा है कि मध्यप्रदेश में मानसून की संभावना के मद्देनजर गेहूँ उपार्जन का सीजन इस तिथि को समाप्त हो जाता है। अत: बारदाने की यह गठानें 50 जिलों में फैले 2313 उपार्जन केन्द्रों में समय पर भेजने के लिये 20 की बजाय 15 मई तक प्रदेश को मिल जाना चाहिये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पत्र में कहा कि बारदानों की कमी से उत्पन्न कठिनाई के बाद भी प्रदेश में  4 लाख 30 हजार किसानों से 39 लाख मीट्रिक टन गेहूँ समर्थन मूल्य पर खरीदा जा चुका है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि केन्द्रीय खाद्य राज्य मंत्री प्रदेश की महत्वपूर्ण आवश्यकता तथा किसानों से गेहूँ की निर्बाध खरीदी के लिये अधिकारियों को 30 अप्रैल से 15 मई तक प्रतिदिन एक रैक बारदाना अनिवार्य रूप से भेजने के निर्देश देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here