मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना लागू की जायेगी

इंदौर, जनवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना लागू की जायेगी। इस योजना के तहत राज्य शासन द्वारा 25 लाख रूपये तक के उद्योगों के लिये बैंक गारंटी तथा पाँच साल तक पाँच प्रतिशत ब्याज अनुदान दिया जायेगा। उन्होंने युवाओं का आव्हान किया कि वे आगे आकर प्रदेश में उद्योग-व्यवसाय स्थापित करें। आत्मनिर्भर बनकर प्रदेश के सर्वांगीण विकास में सहयोगी बने। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज इंदौर नगर निगम परिषद के कार्यकाल के तीन वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर शहर में बीते 3 वर्ष में तेजी से विकास हुआ है। शहर में हुए विकास कार्यों में नागरिकों का सहयोग प्रशंसनीय रहा है। मालवा में नर्मदा-क्षिप्रा सिंहस्थ लिंक परियोजना के माध्यम से पानी की पर्याप्त व्यवस्था होगी। आने वाले वर्षों में खान नदी में भी स्वच्छ जल बहेगा। इंदौर के औद्योगीकरण की चर्चा करते हुए श्री चौहान ने कहा कि इंदौर में बड़ी आई.टी. कम्पनियाँ आ रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर में रहने वाले गरीब तबके के व्यक्तियों के हितों का पूरा ख्याल रखा जायेगा। झुग्गीवासियों को वैकल्पिक व्यवस्था के पश्चात ही हटाया जायेगा। प्रदेश में अवैध कॉलोनियों को वैध किया जायेगा। इस हेतु प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गयी है। मुख्यमंत्री ने कृषि उत्पादन की चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश अन्न उत्पादन के मामले में देश के श्रेष्ठ राज्यों में शामिल हो गया है। प्रदेश को निवेश के क्षेत्र में भी देश का अव्वल राज्य बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि नगर पालिक निगम इंदौर में 2 लाख रूपये से कम राशि के पुराने बकायादारों के नियमित सरचार्ज में शत-प्रतिशत एवं 2 लाख रूपये से अधिक राशि के पुराने बकायदारों के सरचार्ज में 50 प्रतिशत की छूट के प्रस्ताव पर सकारात्मक पहल की जायेगी। उन्होंने कहा कि महिलाओं का अपमान करने या उनके विरुद्ध अपराध करने वालों को कड़ी सजा दी जाये।

नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि इंदौर शहर ने बीते एक दशक में तेजी से विकास किया है। प्रदेश में इस वर्ष 1300 करोड़ रूपये शहर के विकास कार्यों पर व्यय किये गये हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने इंदौर शहर में हो रहे विकास कार्यों को प्रशंसनीय बताया। कहा कि शहर के सर्वांगीण विकास में जन-भागीदारी का उल्लेखनीय योगदान है। इंदौर नगर निगम के महापौर कृष्णमुरारी मोघे ने इंदौर शहर में बीते वर्षों में हुए विकास कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विकास के क्षेत्र में इंदौर को प्रदेश का आईना बनाया गया है।

कार्यक्रम में 5 गृह निर्माण सहकारी समितियों के 464 सदस्यों को प्लांट के आवंटन पत्र सौंपे गये। साथ ही एक गृह निर्माण सहकारी संस्था के 25 सदस्यों को वरियता पत्र दिये गये। मुख्यमंत्री ने जेएनएनयूआरएम के अंतर्गत शहरी गरीबों के लिये बनाये आवासों के आवंटन पत्रों का वितरण भी किया। बेटी बचाओ अभियान के तहत एक बेटी पर परिवार नियोजन ऑपरेशन कराने वाले दम्पत्तियों को सम्मानित भी किया।

476 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात

मुख्यमंत्री ने 476 करोड़ रूपये लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया। इसमें से 418 करोड़ रूपये लागत के कार्य नगर निगम इंदौर के हैं। मुख्यमंत्री ने ग्राम नेनोद में शहरी गरीबों के लिये निर्मित आवासीय संकुल अवलोकन किया।

इस मौके पर खनिज विकास निगम के उपाध्यक्ष गोविंद मालू, अपेक्स बैंक के अध्यक्ष भवंरसिंह शेखावत, अल्पसंख्यक कल्याण आयोग के सदस्य त्रिलोचनसिंह वासू, विधायकगण सुदर्शन गुप्ता, रमेश मैंदोला, श्रीमती मालिनी गौड़ तथा जीतू जिराती, शंकर लालवानी एवं जन-प्रतिनिधि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here