रचनात्‍मक पत्रकारिता से ही होगा प्रदेश का विकास: शुक्‍ल

भोपाल, अगस्त 2014/ जनसम्पर्क एवं ऊर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि मध्यप्रदेश में तेजी से विकास के लिये सकारात्मक माहौल बना है। प्रदेश के विकास एवं कृषि की दर में तेजी से वृद्धि होने के कारण मध्यप्रदेश की पहचान देशभर में अग्रणी राज्य के रूप में हुई है। ऐसे समय रचनात्मक पत्रकारिता को और अधिक बढ़ावा दिये जाने की जरूरत है। जनसम्पर्क मंत्री भोपाल में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के नवागत विद्यार्थियों के सत्रारंभ-2014 को संबोधित कर रहे थे। सत्रारंभ कार्यक्रम तीन दिन चलेगा। इस दौरान पत्रकारिता एवं संचार के क्षेत्र के विषय-विशेषज्ञों के उद्बोधन होंगे।

श्री शुक्ल ने कहा कि पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना गया है। जिन विद्यार्थियों ने इस क्षेत्र में आने का तय किया है। उनके कंधों पर एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी आई है। विद्यार्थी जिस गुणवत्ता के साथ अध्ययन करेंगे और आगे चलकर जो काम करेंगे, उससे विश्वविद्यालय की पहचान को मजबूती मिलेगी। जनसम्पर्क मंत्री ने कहा कि आज का युग सूचना का युग है। हर क्षेत्र में इन्फार्मेशन टेक्नालॉजी के नये साधनों का प्रयोग हो रहा है। विद्यार्थी कम्प्यूटर में दक्षता हासिल करें। श्री शुक्ल ने कहा कि हाल ही के लोकसभा चुनाव में युवाओं ने सक्रिय भागीदारी करते हुए विकास के मार्ग को प्रशस्त किया है। देश में जो नेतृत्व परिवर्तन हुआ है, इससे शीघ्र ही देश को बेरोजगारी एवं गरीबी से मुक्ति मिलेगी। स्वतंत्रता आंदोलन के समय महात्मा गाँधी ने समाज के प्रत्येक वर्ग में आजादी का भाव पैदा किया था। अब देश के विकास का भाव प्रत्येक तबके में जागृत करने में मीडिया महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

विश्वविद्यालय ने अपनी विशिष्टता के कारण देशभर में अलग पहचान बनाई है। जनवरी 2015 तक बिशनखेड़ी में विश्वविद्यालय का अपना भवन बन जायेगा।

कुलपति प्रोफेसर बृजकिशोर कुठियाला ने कहा कि सत्र में 450 विद्यार्थी ने अखिल भारतीय चयन परीक्षा पास कर पत्रकारिता की विभिन्न विधाओं में प्रवेश लिया है। विश्वविद्यालय में वर्तमान में 930 छात्र अध्ययनरत हैं। विश्वविद्यालय के 15 राज्य में 930 अध्ययन केन्द्र हैं। इनमें डेढ़ लाख छात्र पत्राचार कोर्स के माध्यम से अध्ययनरत हैं। मीडिया से स्वरूप बदला है। इसको देखते हुए नये कोर्स प्रारंभ किये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने वेब-मीडिया, सोशल मीडिया, ग्राफिक्स, एनिमेशन आदि क्षेत्र के बारे में भी जानकारी दी। संचालन निदेशक दीपक शर्मा ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here