राज्य लोक सेवा की प्रारंभिक परीक्षा के लिये पर्यवेक्षक नियुक्त

भोपाल, जुलाई  2014/ मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग ने राज्य सेवा परीक्षा-2013 की प्रारंभिक परीक्षा के लिये 3 क्षेत्रीय केन्द्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त किये हैं। यह पर्यवेक्षक परीक्षा व्यवस्था की निष्पक्षता और विश्वसनीयता को सुनिश्चित करेंगे। यह पर्यवेक्षक उच्च न्यायिक सेवा एवं भारतीय प्रशासनिक सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। इन अधिकारियों के मोबाइल नम्बर एवं ई-मेल एड्रेस परीक्षार्थियों को उपलब्ध करवाये जायेंगे, ताकि वे किसी भी गड़बड़ी की शिकायत सीधे पर्यवेक्षकों से कर सकें।

राज्य लोक सेवा परीक्षा-2013 की प्रारंभिक परीक्षा 27 जुलाई 2014 को 2 सत्र में होगी। प्रदेश के 51 जिले के 1108 केन्द्र पर होने वाली परीक्षा की निष्पक्षता और विश्वसनीयता के लिये आयोग ने वर्तमान व्यवस्था के अतिरिक्त 3 क्षेत्रीय केन्द्रीय पर्यवेक्षक की नियुक्ति की है। जबलपुर क्षेत्र, जिसमें जबलपुर, रीवा एवं शहडोल संभाग शामिल हैं, के लिये उच्च न्यायिक सेवा के सेवानिवृत्त अशोक कुमार जैन को नियुक्त किया है। इनका मोबाइल नम्बर 9425809244 है। ग्वालियर क्षेत्र, जिसमें सागर, ग्वालियर और चम्बल संभाग शामिल हैं, के लिये उच्च न्यायिक सेवा के सेवानिवृत्त रघुवीर सिंह चूड़ावत क्षेत्रीय पर्यवेक्षक होंगे। इनका मोबाइल नम्बर 9425364946 है। इसी तरह भोपाल क्षेत्र के पर्यवेक्षक सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी राकेश बंसल होंगे। इस क्षेत्र में भोपाल, इंदौर, उज्जैन और नर्मदापुरम संभाग शामिल हैं। श्री बंसल का मोबाइल नम्बर 9893097235 है।

जोन प्रभारी केन्द्रीय पर्यवेक्षक अपने क्षेत्र के किसी भी जिले में आवश्यकता अनुसार भ्रमण करेंगे। पर्यवेक्षकों को मुख्यमंत्री कॉल सेंटर, आयोग और स्वयं के ई-मेल पर जो शिकायतें प्राप्त होंगी, वे क्षेत्रवार उन्हें अंकित की जायेंगी। पर्यवेक्षक शिकायतों की स्वयं अथवा संबंधित कमिश्नर, पुलिस महानिरीक्षक, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा से जाँच प्रतिवेदन प्राप्त कर अपने अभिमत के साथ आयोग को प्रेषित करेंगे। इस पर आयोग विचार करेगा। सभी संभागीय उच्च अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे पर्यवेक्षकों द्वारा भेजी गई शिकायत की सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ जाँच कर प्रतिवेदन समय-सीमा में पर्यवेक्षकों को भेजें। जिला कलेक्टर अपने जिले में होने वाले परीक्षा केन्द्रों की सूची और वहाँ नियुक्त कार्यपालिक दंडाधिकारी के नाम पर्यवेक्षकों को उपलब्ध करवायेंगे। सभी व्यवस्थाओं के समन्वय के लिये संभागीय उपायुक्त को प्रभारी बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here