राज्‍य में सड़क विकास के विशेष प्रयास- मुख्यमंत्री

त्‍योंथर, दिसंबर 2012/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्य प्रदेश को हिन्दुस्तान का सर्वाधिक अग्रणी राज्य बनाने के लिये विकास की गति को तेज करना बहुत जरूरी है। श्री चौहान रीवा जिले के त्योंथर तहसील मुख्यालय में 1052 करोड़ की लागत से बनने वाली रीवा से हनुमना और मनगवां से चाकघाट फोर-लेन सड़क का भूमि-पूजन कर रहे थे। यह सड़कें डी.वी.एफ. ओ. टी. योजना के तहत बनायी जा रही है। श्री चौहान ने कहा कि सड़कें, बिजली, पानी समृद्धि की वाहिनी होती हैं और प्रदेश सरकार इस दिशा में विशेष कदम उठा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने गरीबों सहित हर वर्ग के कल्याण के लिये अनेक योजनाएँ संचालित की हैं। हाल ही में आरंभ की गयी सरदार वल्लभ भाई पटेल निःशुल्क दवा वितरण योजना के संबंध में कहा कि समाज के सभी वर्गों को उच्च गुणवत्ता की दवाए निःशुल्क प्रदान की जायेंगी मुख्य मंत्री ने टमस नदी पर 15 करोड़ बीस लाख रू. की लागत से बने पुल का लोकार्पण किया। इस पुल के बन जाने से राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 27 का सम्पर्क सीधे डभौरा-जवा, चिल्ला- चाक शंकरगढ़ मार्ग से हो गया है। साथ ही जवा, चिल्ला, पनवार, डभौरा आदि के ग्रामीणों का सम्पर्क सीधे तहसील मुख्यालय त्योंथर से भी हो गया है तथा आने-जाने में लगभग तीस किलोमीटर दूरी कम हो गयी है।

श्री चौहान ने कहा कि वे रीवा जिले के लिये एक हजार करोड़ रूपये से भी अधिक की सौगात लेकर आये हैं। विन्ध्य प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। इलाहाबाद से रीवा रोड राष्ट्रीय राजमार्ग में गढ्ढे एवं गुणवत्ताहीन रोड होने से लोग परेशान होते थे लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। त्योंथर में उदवहन सिंचाई योजना स्वीकृत की गयी है। यह योजना 220 करोड़ रूपये लागत से निर्मित की जा रही है इससे 28 हजार एकड़ में सिंचाई होगी। बाणसागर योजना के माध्यम से बाईं तट की नहर – जवा एवं त्योंथर से 73 कि.मी. लम्बी निर्मित की जायेगी। इसके निर्मित हो जाने पर 269 गांवों के किसान लाभान्वित होंगे और 40 हजार हेक्टयर में सिंचाई होगी। इसी प्रकार दाईं तरफ की नहर सितलहा होकर निकाली जायेगी। यह 44 कि.मी. लम्बी बनाई जायेगी इससे 7 हजार हेक्टयर में सिंचाई होगी। इन नहरों के निर्माण पर 566 करोड़ रूपये की लागत आयेगी। उन्होंने कहा कि किसानों को धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 100 रूपये और गेहूं के समर्थन मूल्य पर 100 रूपये प्रति क्विंटल बोनस दिया जायेगा। श्री चौहान ने कहा कि वे केन्द्र सरकार से आग्रह करेंगे कि गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य कम से कम 1600 रूपये किया जाये।

मुख्यमंत्री ने स्थानीय लोगों की विभिन्न मांगों का परीक्षण कराने का आश्वासन दिया। त्योंथर में अधो संरचना विकास के लिये एकमुश्त तीन करोड़ रूपये का आबंटन स्वीकृत करने , त्योंथर एवं चाकघाट में पेयजल योजना स्वीकृत करने तथा त्योंथर महाविद्यालय में अगले सत्र से स्नातकोत्तर कक्षाएं प्रारंभ करने की घोषणा की। अंत्योदय मेले में विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को प्रतीक स्वरूप लाभान्वित किया। वासस्थान दखलकार अधिनियम के तहत हितग्राहियों को पट्टे भी वितरित किये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here