वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सुविधा में मध्यप्रदेश अग्रणी

भोपाल, अप्रैल 2016/ मध्यप्रदेश, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये मैदानी अधिकारियों के साथ सीधे संवाद स्थापित करने के लिए इस सुविधा का सबसे अधिक उपयोग करने वाला राज्य बन गया है। राज्य स्तर पर तीन तथा जिला स्तर पर दो व्ही.सी. स्टूडियो स्थापित हो जाने से इस सुविधा का और विस्तार हुआ है। यह बात सचिव मुख्यमंत्री एवं राज्य पर्यटन विकास निगम के एम.डी. हरि रंजन राव ने निगम के क्षेत्रीय अधिकारियों एवं प्रबंधकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये समीक्षा बैठक में कही। बताया गया कि प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भेड़ाघाट में लेजर शो एवं साँची में लाइट-साउंड शो शीघ्र शुरू होगा। प्रदेश में 10 स्थान को पर्यटन गतिविधियों में और अधिक वृद्धि के लिये चुना गया है। इनमें वाटर स्पोर्टस, एडवेंचर टूरिज्म, बोटिंग आदि सुविधाएँ विकसित होगी।

श्री राव ने बताया कि पर्यटकों की सुविधा के लिये कॉल सेंटर स्थापित कर फीड बेक प्राप्त करने की व्यवस्था शुरू की जायेगी। निगम द्वारा ग्राहक संतुष्टि सर्वे करवाया जायेगा। इसके जरिये सेवाओं में गुणवत्ता सुधार के लिये और अधिक प्रयास किये जायेंगे। श्री राव ने पर्यटन-स्थलों और होटल्स आदि में साफ-सफाई की समुचित व्यवस्था, निगम द्वारा संचालित बोट क्लब और वॉटर बॉडीज़ में सीवेज ट्रीटमेंट प्लान्ट का काम शीघ्र पूरा करने तथा क्रूज तथा बोटिंग में लाइफ जेकेट आदि सुरक्षा का अनिवार्य उपयोग सुनिश्चित कर जरूरी ऐहतियात बरतने को कहा। उन्होंने जिला टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल को और अधिक सक्रिय बनाने एवं विभिन्न गतिविधियों को शामिल कर पर्यटन के अच्छे अनुभव डेस्टिनेशन एक्सपीरिएंश इन्हेंसमेंट प्लान (डीईईपी) के तहत मूल्य संवर्धन संबंधी सुझाव शीघ्र भेजने के निर्देश दिये।

समीक्षा में अपर प्रबंध संचालक सुश्री तन्वी सुन्द्रियाल ने निगम की विभिन्न इकाइयों की प्रगति एवं परफार्मेंस से अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि निगम के क्षेत्रीय अधिकारियों के साथ हर माह के तीसरे शुक्रवार को शाम 5 से 6 बजे तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से समीक्षा होगी। मई माह से निगम की क्षेत्रीय बैठकें भी शुरू की जाएंगी। बैठक में उप सचिव पर्यटन श्रीमती भावना वालिंबे, कार्यपालक निदेशक श्री ओ.वी.चौधरी एवं डॉ. पी.पी.सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here