शासन व्यापारियों एवं उद्योगपतियों के प्रति संवेदनशील: राघवजी

इंदौर, जून 2013/ वित्‍त एवं वाणिज्यिक कर मंत्री राघवजी ने कहा है कि व्यापारियों एवं उद्योगपतियों के लिये निर्धारित फार्म 49 में यदि कोई व्यावहारिक विसंगति है तो उसे दूर करने का प्रयास किया जायेगा। भामाशाह सम्मान में कार्पोरेट एवं नॉन कार्पोरेट के लिये अलग-अलग श्रेणी बनाई जायेगी। सेल्फ असेसमेंट का सरलीकरण किया जायेगा। उद्योगों के भवनों को बहुमंजिला बनाये जाने पर विचार किया जायेगा।

व्यापारियों एवं उद्योगपतियों की समस्याओं के प्रति राज्य शासन संवेदनशील है। व्यापारियों एवं उद्योगपतियों से निरंतर संवाद बना रहेगा। व्यापार एवं उद्योग की प्रक्रिया संबंधी विसंगतियों को दूर करने का प्रयास किया जायेगा। श्री राघवजी इंदौर एसोसिएशन ऑफ इण्डस्ट्रीज के कार्यालय में व्यापारियों एवं उद्योगपतियों के प्रतिनिधि-मण्डल की बैठक में बोल रहे थे।

बैठक में एसोसिएशन ऑफ इण्डस्ट्रीज के अध्यक्ष अशोक बड़जात्या,अहिल्या चेम्बर ऑफ कामर्स के अध्यक्ष सुशील सुरेखा, सर्वश्री रामप्रतापसिंह गौतम, प्रीतमलाल दुआ, जगतनारायण जोशी, अजीतसिंह नारंग, विजय अग्रवाल, अशोक जायसवाल, आर.एस.गोयल, एस.एन.गोयल, हंसकुमार जैन सहित व्यापार एवं उद्योग के प्रतिनिधि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here